प्राचीन शारीरिक सौष्ठव कला को जीवित रखना प्रशंसनीय कार्य:निलय डागा

Scn news india


जय हनुमान व्यायाम शाला के पहलवानों ने दिखाए हैरतअंगेज दिखाए करतब
छात्राओं ने भी लाठी, तलवार सहित अन्य विधाओं का किया जबरदस्त प्रदर्शन
बैतूल-युवाओं के लिए अखाड़े आज भी शारीरिक सौष्ठव के लिए एक प्रमुख साधन है, जय हनुमान व्यायाम शाला द्वारा आज के दौर में भी प्राचीन शारीरिक सौष्ठव कला को जीवित रखना सराहनीय प्रयास है। युवाओं को इसका लाभ उठाना चाहिए।
उक्त उद्गार विधायक निलय डागा ने जय हनुमान व्यायाम शाला बैतूल गंज के समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के बाद भी युवाओं में व्यायाम शाला के प्रति उत्साह प्रशंसनीय है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पं. डॉ. कांत दीक्षित ने कहा कि पहलवानी के क्षेत्र में अपने करतब दिखाकर राष्ट्रीय और प्रादेशिक स्तर पर पुरस्कृत होने पर पहलवानों सहित नन्हें-मुन्नें बच्चों को भी इस कला से जुडऩे के लिए उन्हें साधुवाद देते हुए उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी। श्री दीक्षित ने व्यायाम शाला के सक्रिय सदस्य रहे उत्तमसिंह ठाकुर और रवि ठाकुर के असामायिक निधन पर भी शोक व्यक्त किया।


व्यायाम शाला के अध्यक्ष प्रेमशंकर मालवीय ने विधायक निलय डागा और सहसचिव मयंक भार्गव ने पं. कांत दीक्षित को शाल-श्रीफल से सम्मान किया। व्यायाम शाला के प्रशिक्षक विनोद बुदंला का राष्ट्रीय एवं प्रादेशित स्तर पर उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने पर नितिन पप्पू शर्मा ने शाल श्रीफल से सम्मानित किया।
इस अवसर पर व्यायाम शाला के अध्यक्ष प्रेमशंकर मालवीय, उपाध्यक्ष अशोक दीक्षित, सचिव नरेश शर्मा, सहसचिव मयंक भार्गव, विशेष सहयोगी तेजराव डफरे, कोषाध्यक्ष प्रमोद अग्रवाल सहित अन्य पदाधिकारियों का अतिथियों का स्वागत किया। श्री हनुमान जी की आरती के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रवीण पम्मा बिहारे ने और अखाड़े का संचालन विनोद बुदंला ने किया।
पहलवानों ने दिखाए हैरतअंगेज करतब
इसके पश्चात् जय हनुमान व्यायाम शाला बैतूल गंज के पहलवानों द्वारा मौत की पेटी, खूनी शिकंजा, हवाई झूला, फ्लाइंग झूला, बैलेंस झूला, जंपिंग झूला, रोप जम्प, टोलर बैलेंस, डबलवार, सिंगलवार, मलखम, भाले, तलवार पट्टे, तार पर चलना, गाज गिराना, गदाकाफरी, पीरामिड आदि कार्यक्रमों सहित शरीर से 250 ट्यूब राड फोडऩा, कांच के टुकड़े खाना, सीने पर से मोटरसाइकिल निकालने जैसे हैरतअंगेज कार्यक्रमों का प्रदर्शन किया गया।