नरसिंहगढ़ कृषि उपज मंडी में बड़ा गड़बड़ घोटाला

Scn news india


राजगढ़ जिले के नरसिंहगढ़ कृषि उपज मंडी में कई प्रकार की अनियमितता है हाल ही में प्याज को लेकर पूरे देश में प्रदर्शन किया जा रहा है प्याज के दाम लगातार बढ़ रहे हैं इसको देखते हुए प्रदेश स्तर से आदेश जारी हुए जिसमें कि किसी व्यापारी को 20 क्विंटल से अधिक प्याज रखने की अनुमति नहीं दी गई
प्रशासन ने आदेशों को संज्ञान में लेकर प्याज व्यापारियों की धर पकड़ की मंडी से लेकर तो उनके गोदामों तक की प्याज की चेकिंग की गई जिसमें की किसी भी व्यापारी के स्टॉक रजिस्टर मौके पर नहीं मिले तथा अधूरे पाए गए ओर सभी व्यापारियों के दस्तावेजों को मौके पर बुलवा कर sdm सिद्धार्थ जैन ने चेक किया जब रजिस्टरों की जांच की गई तो कुछ व्यापारियों के रजिस्टर में 98.40 किलो प्याज़ स्टॉक में पाया ओर मोके पर इतना नही मिला अब यह देखें ने लायक होगा कि प्याज इतनी मात्रा में कहां गए जिनके रजिस्टर में कमियां पाई गई उन पर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए
मंडी सेकेट्री व मंडी स्पेक्टर की मिली भगत से मंडी प्रांगण में अतिक्रमण फेला हुआ है और दिनों दिन मंडी प्रांगण में अतिक्रमण लगातार बढ़ाता ही जा रहा है ।


अतिक्रमण को लेकर एसडीएम ने तुरंत कार्रवाई के सख्त निर्देश दिए तथा मंडी स्पेक्टर को भी जमकर फटकार लगाई अतिक्रमण हटाने की बात
कही
और आपको बता दें कि एसडीएम ने निरीक्षण किया तो एक अवैध निर्माण सिद्धार्थ जैन को दिखा इस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए अतिक्रमण हटाने के आदेश दिए हैं
पूर्व में भी sdm ने मंडी में अव्यवस्थाओ को लेकर मंडी सेक्रेटरी एवं सचिव अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे ऐसे कई अतिक्रमण जो मंडी में है उनकी जांच कर उनपर कार्यवाही करने के निर्देश दिए लेकिन मंडी प्रशासन ने अभी तक इसके ऊपर कोई कार्रवाई नहीं की गई सभी व्यापारियों के अतिक्रमण चिन्हित कर हटाने के निर्देश दिए जा चुके थे।
नरसिंहगढ़ कृषि मंडी पूर्व से ही विवादों के घेरे में है अधिकारियों की लापरवाही कर्मचारी काम नहीं करते हैं पूर्व में भी मंडी के कांटे घोटाले की भेंट चढ़े हुए हैं

निरीक्षण करते समय एसडीएम सिद्धार्थ जैन खाद्य अधिकारी मरगी अग्रवाल मंडी सचिन नील कमल वेद तथा मंडी स्पेक्टर दयाराम भारती कृष्ण गोपाल शर्मा इत्यादि जन मौजूद रहे।

एसडीएम सिद्धार्थ नरसिंहगढ़ नरसिंहगढ़ से भगवानसिंह उमठ तथा कमल चौरसिया की रिपोर्ट नरसिंहगढ़

Leave a Reply

Your email address will not be published.