मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने 21550 लाड़लियों के खातों में 5.99 करोड़ रूपए राशि की छात्रवृत्ति अंतरित की

Scn news india

अल्केश साहू 
जिला मुख्यालय पर सांसद श्री डीडी उइके एवं विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे ने किया लाड़ली लक्ष्मी हितग्राहियों का सम्मान
बैतूल-मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि  लाड़ली लक्ष्मी दिवस उत्सव के रूप में राज्य, जिला, ब्लॉक, ग्राम पंचायत स्तर पर मनाया जाएगा। हमने तय किया है कि ग्राम पंचायतों को बेटियों के जन्म की संख्या के आधार पर लाड़ली लक्ष्मी फ्रेंडली ग्राम पंचायत घोषित करेंगे। उन्होंने कहा कि लाड़ली लक्ष्मी योजना केवल योजना नहीं है, समाज की दृष्टि बदलने का प्रयास है कि बेटियां देवियां हैं, बेटियों के सम्मान के बिना, उनके सशक्तिकरण के बिना ये देश आगे नहीं बढ़ सकता, ये समाज आगे नहीं बढ़ सकता। मुख्यमंत्री श्री चौहान गुरूवार को लाड़ली लक्ष्मी उत्सव के अंतर्गत मिंटो हॉल भोपाल में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लाड़ली लक्ष्मी उत्सव के अंतर्गत सिंगल क्लिक के माध्यम से प्रदेश की 21,550 लाड़लियों के खातों में 5.99 करोड़ रुपए की छात्रवृत्ति का अंतरण किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में आनंदमूर्ति गुरु मां, अतिरिक्त मुख्य सचिव महिला एवं बाल विकास श्री अशोक शाह सहित लाड़ली लक्ष्मी हितग्राही उपस्थित रहीं। इस दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं आनंदमूर्ति गुरु मां ने मंच से प्रदेश की विभिन्न लाड़लियों को लाड़ली लक्ष्मी योजना के आश्वासन पत्र, छात्रवृत्ति एवं प्रमाण पत्र तथा उनके नाम मामा (सीएम) का संदेश भेंट किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बहुत एक्सरसाइज करने के बाद लाड़ली लक्ष्मी योजना बनी। आज मुझे कहते हुए खुशी है कि हमने लाड़लियों के कल्याण के लिए 47 हजार 200 करोड़ रुपए सुरक्षित रख दिए हैं। उन्होंने कहा कि बेटियों और बेटियों के मम्मी-पापा के अगर कोई सुझाव हों कि बेटियों के लिए यह और होना चाहिए तो जनसंपर्क विभाग के पोर्टल mp.mygov.in पर सुझाव दे सकते हैं, हम उस पर भी विचार करेंगे।

लाड़ली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम की मुख्य अतिथि आनंदमूर्ति गुरु मां  ने लाड़ली लक्ष्मियों को संबोधित करते हुए कहा कि आज नवमीं का दिन है इतने सुंदर कार्यक्रम में शामिल होना मैं अपना सौभाग्य समझती हूं। उन्होंने कहा कि शिक्षा का सौहार्द पूर्ण वातावरण, अपने परिवार में सम्मान जनक स्थान हर महिला का मौलिक अधिकार है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अतिरिक्त मुख्य सचिव महिला एवं बाल विकास श्री अशोक शाह ने बताया कि लाड़ली लक्ष्मी योजना की तीन कडिय़ां हैं- बाल विवाह रोकना, बालिका शिक्षा को सुनिश्चित करना, महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना। उन्होंने कहा कि जिस देश और समाज में नारी का सम्मान नहीं होता, वह देश और समाज कभी प्रगति नहीं कर सकता। यदि हमें आत्मनिर्भर होना है तो यह सबसे जरूरी है कि हमारे देश की नारी सुरक्षित हो, सुपोषित हो और समृद्ध हो। उन्होंने कहा कि राज्य स्तरीय लाड़ली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम में प्रदेश की 40 लाख से अधिक लाड़ली लक्ष्मी कार्यक्रम से जुड़ी हुई हैं। आज का दिन अभूतपूर्व उत्सव का दिन है। आज का दिन नारी के सम्मान का दिन है।
जिला मुख्यालय पर एनआईसी के सभाकक्ष में सांसद श्री डीडी उइके, विधायक आमला डॉ. योगेश पंडाग्रे, श्री राजेश आहूजा, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री संजय जैन सहित लाड़ली लक्ष्मी योजना की हितग्राही बालिकाओं ने इस वर्चुअल कार्यक्रम का अवलोकन किया। इस अवसर पर सांसद श्री उइके एवं विधायक डॉ. पंडाग्रे ने इन बालिकाओं का तिलक लगाकर सम्मान किया एवं मुख्यमंत्री का संदेश भेंट किया।