रेल कर्मचारी संघ विवाद पश्चिम मध्य रेल्वे के wcrms के अध्यक्ष पर लगा भ्रस्टाचार का आरोप,यूनियन ने थाने में दर्ज कराई शिकायत

Scn news india

रोहित नैय्यर ब्यूरो 

जबलपुर पश्चिम मध्य रेलवे के wcrms के यूनियन अध्यक्ष के ऊपर यूनियन के अन्य पदाधिकारियों व सदस्यों ने गंभीर आरोप लगाते हुए थाने में शिकायत दर्ज करवाई है,,जहा यूनियन के सदस्यों ने थाने में शिकायत दर्ज कराते हुए बताया कि wcrms के यूनियन अध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद भटनागर को अपने पद का दुरपुयोग किये जाने को लेकर सर्वसम्मति से 112 मेंबर्स की कमिटि बैठक करके उन्हें नोटिस जारी करके ससपेंड किया गया जहा आरपी भटनागर द्वारा अपने बेटे को जो कि रेलवे में पदस्थ नही है बावजूद यूनियन की गाइड लाइन के विपरीत उन्हें वर्किंग कमिटि का मेंबर बनाया गया साथ ही यूनियन की अंदरूनी कार्यशाली व बैठकों में अध्यक्ष का बेटा हस्तक्षेप करने लगा जो नियम विरुद्ध है उसके बाद जब अध्यक्ष को नोटिस देते हुए ससपेंड किया गया उसके बावजूद भी राजेन्द्र प्रसाद भटनागर द्वारा अपने कुछ अराजक साथियो के साथ मिलकर wcrms यूनियन के कार्यलय का ताला तोड़कर उसमे जबरन बैठा जाने लगा जबकि ससपेनशन का नोटिस रेल मंडल को भी जारी कर दिया गया उसके बाद भी आरपी भटनागर अपनी मनमानी पर उतारू है,,जिसको लेकर मंडल अध्यक्ष व यूनियन के सदस्यों ने कार्यवाही की मांग की है।

एसएन शुक्ल–मण्डल अध्यक्ष शिकायतकर्ता

वही इस संबंध में wcrms यूनियन के आरपी भटनागर से जब पूछा गया तो उन्होंने बताया कि वर्किंग कमिटि की कोई बैठक नही हुई वह विगत 35 सालो स यूनियन के अध्यक्ष है ,,जिन लोगो द्वारा यह आरोप लगाए जा रहे है वो बेबुनियाद है,,112 लोगो की कमिटि है लेकिन यूनियन के अन्य पदाधिकारियों द्वारा बाहरी लोगों को जोड़कर उनसे बैठक करली जो नियम विरुद्ध है,,ये लोग खुद भ्रस्टाचार में लिप्त है इसलिए जब इनकी चोरियां पकड़ी जा रही है तो यह लोग इस प्रकार के आरोप प्रत्यारोप लगा रहे है।

आरपी भटनागर–अध्यक्ष wcrms