मध्य प्रदेश में हाईकोर्ट और जिला अदालतों के वकील आज कामबंद कर प्रतिवाद दिवस पर

Scn news india

रोहित नैय्यर

जबलपुर में जिला अदालत के गेट पर धरना देकर प्रदर्शन करने वाले वकीलों को गिरफ्तार करने से नाराज़ मध्य प्रदेश में हाईकोर्ट और जिला अदालतों के वकील आज कामबंद कर प्रतिवाद दिवस मना रहे है,

एमपी स्टेट बार कौंसिल ने जिला जज के निर्देश पर अधिवक्ताओं की गिरफ्तारी के बाद इस प्रतिवाद दिवस का आव्हान किया है,जिसके कारण आज कोर्ट परिसर सुनसान रहे,प्रतिवाद दिवस के चलते जहां अदालतों में कामकाज पूरा तरह से ठप्प रहा,वहीं उन लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा,जिन लोगों के मुकदमों की आज कोर्ट में सुनवाई होनी थी,दरअसल बीते 5 अक्टूबर को जबलपुर जिला अदालत के गेट नंबर एक और दो से वकीलों की एंट्री पर पाबंदी समेत इन दोनों गेटों से सिर्फ जजों को एंट्री देने के जिला न्यायाधीश नवीन सक्सेना के फैसले से नाराज़ वकीलों ने जिला अदालत में धरना देकर प्रदर्शन किया था,

अपने प्रदर्शन के दौरान वकीलों ने जिला न्यायाधीश नवीन सक्सेना के कोर्ट पहुंचने पर रास्ता भी रोक दिया था,जिस पर जिला न्यायाधीश नवीन सक्सेना ने पुलिस को वकीलों पर कार्यवाई के आदेश दिए थे,डिस्ट्रिक्ट जज के आदेश पर पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे करीब 10 वकीलों को गिरफ्तार कर लिया था,साथी वकीलों की गिरफ्तारी से नाराज़ स्टेट बार कौंसिल,हाईकोर्ट बार एसोसिएशन और जिला अधिवक्ता संघ ने संयुक्त रूप से बैठक कर विरोध में आज प्रतिवाद दिवस मनाने का फैसला किया था,अदालतों से बाहर रहकर प्रतिवाद दिवस मना रहे अधिवक्ताओ का कहना है कि पुलिस के साथ साथ अब न्यायाधीश भी वकीलों के साथ मनमानी और दुर्व्यवहार कर रहे है,इसके पहले भी सिवनी समेत प्रदेश के अन्य जिलों में वकीलों के साथ न्यायाधीशों द्वारा दुर्व्यवहार किया जा चुका है,यही वजह है कि वकीलों के लगातार बढ़ रही दुर्व्यवहार की घटनाओं को देखते हुए आज पूरे प्रदेश में वकील प्रतिवाद दिवस मना रहे है।

आर के सैनी — सदस्य राज्य अधिवक्ता परिषद