हर 3 महीने में रक्तदान के संकल्प को निभा रहे आमला के युवा

Scn news india

दिलीप पाल 
3 महीने होते ही जिला चिकित्सालय पहुँचकर जरूरतमंद के लिए अंकुश ने किया रक्तदान
आमला। आमला शहर जो बैतुल जिले में सर्वाधिक रक्तदान शिविर आयोजित कर जिले में सबसे ज्यादा रक्त जिला चिकित्सालय को उपलब्ध करवाता है इसलिये ही आमला को जिले की रक्त राजधानी कहा जाता है।
आमला के अधिकतर जागरूक युवा हर 3 महीने में रक्तदान करते है, जैसे ही आमला के रक्तदाता को रक्तदान किये 3 महीने होते है वे शिविर आयोजित हो तो शिविर में रक्तदान करेंगे या आपातकाल में किसी जरूरतमंद को ब्लड लगें तो हमेशा तैयार रहते है।
रविवार आमला के नियमित रक्तदाता अंकुश सागरे जो बेहद छोटी उम्र के रक्तदाता है उन्हें 3 महीने होते ही खबर मिली कि किसी थैलेसीमिया पीड़ित को A पॉजिटिव रक्त की आवश्यकता है उन्होंने तत्काल आमला से जिला चिकित्सालय बैतुल पहुँचकर अपना रक्तदान किया।
अमन सागरे ने बताया कि हमारी सोच ऐसी है कि अगर हम रक्तदान करने में सक्षम है तो हमे अवश्य हर 3 महीने में रक्तदान करने का संकल्प लेना चाहिए जिससे हम कई लोगो की जान बचा सकते है और आज के युग मे रक्तदान से बड़ा कोई दान नही है इसलिए मानवता की मिशाल पेश करने के किये सबसे लाजवाब तरीका ही रक्तदान है।
जनसेवा कल्याण समिति पंकज उसरेठे ने बताया कि अमन जैसे सैकड़ो रक्तदाताओं पर समिति गर्व करती है जो निस्वार्थ सेवाभाव से हर 3 महीने में रक्तदान करते है।