*ग्रामीण क्षेत्र के बिजलीकर्मी की लापरवाही तीन दिनों से अंधेरे में है पूरा क्षेत्र

Scn news india

 

अलकेश साहू/श्याम आर्य

बारिश के चलते पटरी से उतरी बिजली व्यवस्था 48 घंटे बाद भी पटरी पर नहीं लौट सकी। आलम यह रहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के दर्जनों इलाकों में शुक्रवार रात से बिजली सप्लाई बाधित रही। क्षेत्र में बिजली ना होने के कारण छोटे-छोटे बच्चे कीड़े मच्छरों सापो के डरो से घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है बारिश के दौरान बिजली के तारों गिरे थे सुधार चल रहा बताया गया सुधार हो चुका था फिर भी चालू नहीं हुई सूत्रों से जानकारी मिली है कि शनीवार रविवार को भी बिजली पूरे दिन बंद रही घटिया बिजली के तार लगे होने के कारण बार बार परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं जो थोड़ी पानी हवा से खराब हो जाते है वहीं बताया गया की लाइनमैन भी शराब के नशे में धुत पड़े रहते हैं जिनको लेकर क्षेत्र में बिजली की समस्या बनी रहती है फोन लगाओ सही जवाब नहीं फोन उठाएंगे नहीं ना ही संतुष्ट जनक जवाब नहीं मिलता है साथ साथ लाइनमैन का भी सुधार होना चाहिए।

जो सही कार्य कर सके बिजली बंद रंभा चांदू पलस्या उती जामु गुल्लरढाना रातामाती चोहटा पोपटी कुनखेड़ी डोड़ाजाम लगभग 50 गाव की बिजली सप्लाई बंद है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली सप्लाई की स्थिति सबसे ज्यादा खराब रही। ग्रामीण क्षेत्र की सीधे-साधे लोग होने कारण बिजली विभाग के कर्मचारी उपभोक्ताओं को करते हैं परेशान बिल को लेकर आए दिनो दिन परेशानियां पड़ती नजर आ रही हैं बिजली विभाग की लापरवाही का कारण समझ में आता है यही वजह रही कि ग्रामीण में सभी जगह सभी गांव तक अंधेरा रहा ग्रामीण क्षेत्रों में कई बार बिजली सौ फीसदी पटरी पर नहीं आ सकी। यही स्थिति रही तो नाराज उपभोक्ताओं ने चांदू स्थित बिजली उपकेंद्र का घेराव किया जायेगा उपभोक्ताओं ने बताया कि सप्लाई शुरू नहीं हो सकी। इससे लोग बिजली-पानी की बहुत परेशानी बन रही है