संगठन के अनशन का आज दूसरा दिन,पैसेंजर ट्रेन न चलने से नाराज़,संगठन बैठे क्रमिक आंदोलन में

Scn news india

शारदा श्रीवास ब्यूरो 
मंडला-पैसेंजर रेल चलाने ब्राडगेज संघर्स समिति नैनपुर ने 26 सितम्बर को रेल अधिकारियों को एक ज्ञापन सोपा है ज्ञापन में लेख किया गया है कि 2 अक्टूबर के पूर्व यात्री ट्रेन प्रारंभ नहीं की गई तो आमरण अनशन में बैठेंगे। तदाशय का ज्ञापन रेल मंत्री के नाम सौंपते हुये रेल संघर्ष समिति ने रेल प्रशासन को चेताया था ज्ञापन मे लेख किया है कि सम्पूर्ण क्षेत्र में यात्रीगाडियों का परिचालन धीरे धीरे प्रारम्भ कर दिया गया है। किंतु नैनपुर जबलपुर, नैनपुर गोंदिया और नैनपुर मण्डला रेल खंड पर रेलवे विभाग द्वारा आदिवासी क्षेत्र की जनता के साथ मदभेद कर रहे हैं? ।

लगातार पैसेंजर ट्रेनों के संचालन शुरू करने की मांग को लेकर ज्ञापन देते आ रहे हैं। किंतु रेल विभाग ने अभी तक इस रेल खंड की कोई सुध नहीं ली है। जबलपुर नैनपुर रेल पथ पर पिछले डे? वर्ष से यात्रीगाडिया नहीं चल रही है। जिससे यहां गरीब और मध्यम वर्गीय जनता भारी आर्थिक कठिनाइयों से न केवल जूझ रही है अपितु उनकी जींवन चर्चा भी खासी प्रभावित हो रही है। रेल संघर्स समिति ने पुन: मांग की है कि तत्काल इस क्षेत्र में पैसेंजर यात्री गायों का पुनः संचालन शुरू किया जाये। ज्ञापन के बाद निर्धारित कार्यक्रम के तहत 28 सितम्बर 2021 से अखिल भारतीय मानवाधिकार संगठन प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राजा शुक्ला वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष अखिल भारतीय मानव अधिकार संगठन से अशोक पांडे, हम फाउंडेशन प्रांतीय संगठन मंत्री राजेश मिश्रा, अखिल भारतीय मानवाधिकार संगठन मुख्य इकाई उपाध्यक्ष सचिन शर्मा, हम फाउंडेशन मंडला जिलाध्यक्ष अखिलेश सोनी, हम फाउंडेशन नरेंद्र चौहान, अखिल भारतीय मानवाधिकार संगठन मंडल उपाध्यक्ष हिमांशु चौहान, अखिल भारतीय मानवाधिकार संगठन तहसील अध्यक्ष संतोष जंघेला, रेनु कछवाहा हैं।

सदस्य रेलवे संघर्ष समिति नैनपुर मंडला