कहीं कच्ची सडक़ से तो कहीं नदी पार कर पहुंचे टीकाकरण दल ग्रामीणों को घरों में लगाए कोविड के टीके

Scn news india

अल्केश साहू ब्यूरो 
बैतूल-कोविड टीकाकरण महाअभियान के तहत 27 सितंबर को जिले में टीकाकरण के प्रति उत्साह देखा गया। टीकाकरण कार्य में तैनात टीमें अपनी कर्तव्यनिष्ठा का जज्बा दिखाते हुए ग्रामीणों के घरों तक पहुंची और उनको प्रेरित कर टीका लगाया। टीकाकरण के लिए जिला प्रशासन के प्रयासों का सकारात्मक असर हुआ, जहां लोग विगत दिनों तक टीका लगवाने के लिए तैयार नहीं थे, वहां भी नागरिकों ने महाअभियान में टीके लगवाए। अनेक स्थानों पर टीकाकरण दल कच्चे रास्ते के माध्यम से अथवा बरसाती नदियां पार कर पहुंचे, जो उनका शासकीय सेवा के साथ-साथ मानव सेवा के प्रति भी सराहनीय कदम था। सरकारी अमले के साथ जनप्रतिनिधियों एवं स्थानीय क्राइसिस मैनेजमेंट समूहों का व्यापक स्तर पर टीकाकरण कराने में प्रभावकारी सहयोग रहा।


टीकाकरण महाअभियान के तहत सोमवार को विकासखंड भैंसदेही के ग्राम रज्जाढाना में खेतों में घूम-घूम कर टीकाकरण दल शेष रहे लोगों का टीकाकरण किया गया। दल द्वारा सिरजगांव पिपरिया में नदी पार कर खेतों में जाकर वैक्सीनेशन किया गया। वहीं भैंसदेही के ग्राम कालडोंगरी के पटवारी श्री बगीराम बंडोड नदी पार करके लोगों को टीकाकरण हेतु प्रेरित करने पहुंचे एवं ग्रामीणों का टीकाकरण करवाया।


भैंसदेही नगर एवं ग्राम चिल्कापुर में काइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों द्वारा ग्राम भ्रमण कर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित किया गया। ग्राम पंचायत साबड़ी अंतर्गत ग्राम बोदल पठार के पंच श्री कल्लू सिंह एवं अन्य ग्रामीण रविवार शाम तक टीकाकरण करवाने के लिए तैयार नहीं थे, लेकिन सतत समझाइश के बाद उन्होंने सोमवार को वैक्सीन लगवाई। टीकाकरण दल द्वारा ग्राम डोंगरपुर, साबरी में भी वैक्सीनेशन किया गया।
जनपद पंचायत चिचोली के ग्राम अटारी में सोमवार 27 सितम्बर को अटारी निवासी 83 वर्षीय श्रीमती मटली बेवा रामजी भलावी एवं 85 वर्षीय श्रीमती चिक्को बेवा फूलेसिंग भलावी को कोविड वैक्सीन का पहला टीका लगाया गया। छिंदीखापा की 85 वर्षीय अमरवती बाई ने भी उत्साह दिखाते हुए अपना वैक्सीनेशन करवाया।