आपके समाचार पत्र या चैनल के द्वारा घरों-घर टीकाकरण कराने का संदेश भेजकर लोगों को जागरूक और प्रेरित करें- कलेक्टर श्री सुमन

Scn news india

आकाश बालन 

छिंदवाड़ा -कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सुमन ने कहा कि आगामी 27 सितंबर को टीकाकरण महाअभियान के अंतर्गत कोविड-19 टीके के प्रथम डोज से शेष बचे व्यक्तियों को अंतिम रूप से टीके लगाये जाकर राज्य शासन को यह प्रमाण पत्र भेजा जायेगा कि जिले की उपलब्ध जनसंख्या के अनुसार 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्तियों को कोविड-19 टीके की प्रथम डोज लगाई जा चुकी है। इसमें ऐसे व्यक्ति जो पलायन कर गये हैं, जिनकी मृत्यु हो चुकी हैं, जो गंभीर रूप से बीमार हैं या जिन्होंने अन्यत्र कोविड-19 टीके की प्रथम डोज लगवा ली हैं, आदि को छोड़कर ऐसे व्यक्तियों को जागरूक करना आवश्यक है जो स्वेच्छा से कोविड-19 का टीका लगवाना ही नहीं चाहते। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति भय, स्वेच्छा या जिद के कारण टीका नहीं लगवा रहे हैं, उनके प्रति यह संदेश जाना चाहिये कि कोविड-19 का टीका नहीं लगवाकर वे आत्महत्या जैसे अपराध की तैयारी कर रहे हैं और स्वयं के साथ ही परिवार, आस-पड़ोस और समाज के लिये खतरा उत्पन्न करेंगे, क्योंकि यदि वे कोरोना से बीमार होते हैं और उन्हें कोई क्षति होती है तो उसका असर परिवार के साथ ही आस-पड़ोस और समाज पर भी पड़ेगा। इस संबंध में आप सभी अपने समाचार पत्र और चैनल के माध्यम से अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करेंगे तो इसके सकारात्मक परिणाम मिलेंगे और टीकाकरण अभियान में सफलता मिलेगी। यह बात कलेक्टर श्री सुमन ने आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आगामी 27 सितंबर को आयोजित टीकाकरण महाअभियान के संबंध में आयोजित पत्रकार मीट में कही। इस अवसर पर एस.डी.एम. श्री अतुल सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वाथ्य अधिकारी डॉ.जी.सी.चौरसिया, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.एल.एन.साहू और जिले के सभी प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकारगण उपस्थित थे।
पत्रकार मीट में कलेक्टर श्री सुमन ने बताया कि जिले में अनुमानित जनसंख्या 16.80 लाख और मतदाता सूची में भी लगभग 15.50 लाख मतदाता दर्ज है तथा अनुमानित जनसंख्या के मान से लक्ष्य निर्धारित करते हुये 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्तियों को कोविड-19 टीके की प्रथम डोज लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अभी तक लगभग 14 लाख व्यक्तियों को कोविड-19 टीके की प्रथम डोज लगाई जा चुकी है तथा आगामी 2 दिनों में शेष लगभग एक से डेढ़ लाख व्यक्तियों को टीके की प्रथम डोज लगाई जाना है। यह कार्य मीडिया के सहयोग के बिना संभव नहीं है, क्योंकि जिला प्रशासन के पास सीमित अमला है और सभी घरों के शेष व्यक्तियों तक जाना संभव नहीं हो पाता, जबकि आपके समाचार पत्र या चैनल के द्वारा घरों-घर टीकाकरण कराने का संदेश भेजकर जागरूक और प्रेरित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति स्थायी बीमारियों जैसे डायबिटीज, बी.पी., हाईपर टेंशन, कैंसर आदि से ग्रस्त हैं, वे चिकित्सक की सलाह और देखरेख में कोविड-19 का टीका लगवा सकते हैं जिससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। साथ ही गर्भवती व धात्री महिलायें भी चिकित्सक की सलाह और देखरेख में कोविड-19 का टीका लगवा सकती हैं। इस संबंध में आपके समाचार पत्र और चैनल के माध्यम से प्रचार-प्रसार होने से जागरूकता बढ़ेगी और उनका टीकाकरण हो सकेगा। उन्होंने कहा कि कुछ व्यक्तियों द्वारा टीका नहीं लगवाने की जिद के कारण उत्पन्न होने वाले खतरों के प्रति भी लोगों को जागरूक किया जाना आवश्यक है। इस दिशा में भी आप सभी का सहयोग अपेक्षित है। उन्होंने टीकाकरण महाअभियान में अभी तक जिला प्रशासन को दिये गये सहयोग पर मीडिया की सराहना की और जिला प्रशासन द्वारा टीकाकरण महाअभियान के संबंध में की गई व्यवस्थाओं की विस्तार से जानकारी दी तथा पत्रकारों द्वारा प्रस्तुत की गई जिज्ञासाओं व शंकाओं का समाधान भी किया।