उपायुक्त के साथ हुई मारपीट से नाराज़ कर्मचारियों ने काम बंद हड़ताल कर जताया विरोध

Scn news india

रोहित नैय्यर ब्यूरो 

जबलपुर नगर निगम के उपायुक्त के साथ हुई मारपीट से नाराज़ कर्मचारियों ने काम बंद हड़ताल कर विरोध जताया है,और मारपीट करने वाले वकीलों की गिरफ्तारी की मांग की,दरअसल जर्जर मकान तोड़ने की कार्यवाई के लिए गए निगम के अधिकारी के साथ हुई मारपीट से नाराज निगम के सभी कर्मचारी नगर निगम मुख्यालय में जमा हुए और इसके बाद उन्होंने नारेबाजी करते हुए नगर निगम के सभी विभागों को बंद कराया और फिर कर्मचारियों के सभी संगठनों ने एक बैठक का आयोजन किया इस बैठक में निर्णय लिया गया है कि जब तक वकीलों को गिरफ्तार नहीं किया जाता और उनके खिलाफ गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज नहीं होता है उनका यह विरोध जारी रहेगा,इसके साथ ही पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को अपनी मांगों से संबंधित एक ज्ञापन भी सौंपा जाएगा,दरअसल कल गुरुवार को जंहागीराबाद इलाके में एक जर्जर मकान को तोड़ने पहुंचे निगम के सहायक आयुक्त वेद प्रकाश चौधरी और अन्य कर्मचारियों पर जर्जर मकान में रहने वाले कुछ वकीलों ने अचानक हमला बोल दिया था और उन्हें बीच सड़क पर दौड़ा दौड़ा कर पीटा था और उनके कपड़े फाड़ दिए गए थे किसी तरह वे अपनी जान बचाने में कामयाब हुए थे… इसके बाद उन्हें अस्पताल में दाखिल कराया गया था जहां अभी उनका इलाज किया जा रहा है… इधर ओमती थाने में दोनों पक्षों ने अपनी अपनी शिकायत दर्ज कराई है पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है,, हालांकि अभी तक कोई भी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

अमित कुमार मेहरा नगर निगम कर्मचारी संघ अध्यक्ष

इसके साथ ही पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को अपनी मांगों से संबंधित एक ज्ञापन भी सौंपा जाएगा,दरअसल कल गुरुवार को जंहागीराबाद इलाके में एक जर्जर मकान को तोड़ने पहुंचे निगम के सहायक आयुक्त वेद प्रकाश चौधरी और अन्य कर्मचारियों पर जर्जर मकान में रहने वाले कुछ वकीलों ने अचानक हमला बोल दिया था और उन्हें बीच सड़क पर दौड़ा दौड़ा कर पीटा था और उनके कपड़े फाड़ दिए गए थे किसी तरह वे अपनी जान बचाने में कामयाब हुए थे… इसके बाद उन्हें अस्पताल में दाखिल कराया गया था जहां अभी उनका इलाज किया जा रहा है… इधर ओमती थाने में दोनों पक्षों ने अपनी अपनी शिकायत दर्ज कराई है पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है,, हालांकि अभी तक कोई भी गिरफ्तारी नहीं हुई है।