अजयगढ़ के खोय तालाब, मिनचिन सागर व बारा मझगाये में देर रात तक जारी रहा गणेश विसर्जन

Scn news india

मोहम्मद आज़ाद 

  • अजयगढ़ के खोय तालाब, मिनचिन सागर व बारा मझगाये में देर रात तक जारी रहा गणेश विसर्जन, 
  • नगर से गांव तक गूंजे गणपति बप्पा मोरिया अगले बरस फिर जल्दी आ के जयकारे
  • 10 दिवसीय गणेश उत्सव के आखरी दिन सुबह से ही हवन पूजन पश्चात देर रात तक जारी रहा गणेश विसर्जन

अजयगढ़ के मोहल्लो में लगभग 7 से 8 जगह बड़ी गणेश प्रतिमाओं की स्थापना की गई थी इसके अलावा लगभग आधा सैकड़ा छोटी प्रतिमाएं और लगभग घर घर गणपति विराजे थे, श्रद्धालुओं द्वारा 10 दिनों तक हवन पूजन अनुष्ठान कन्या भोज एवं भंडारा उपरांत 19 सितंबर को भक्ति भाव से जलाते में विसर्जित कर दिया गया, पुरुष
महिलाओं युवक युवतियों बालक बालिकाओं को ढोल नगाड़ों की धुन में थिरकते हुए गणपति बप्पा मोरिया अगले बरस फिर जल्दी आ के जयकारों के साथ नगर गूंजता रहा,
स्थानीय नगरीय प्रशासन, पुलिस, राजस्व विभाग के अधिकारी कर्मचारी व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे शांति व्यवस्था बनाए रखने और किसी प्रकार की दुर्घटना ना हो उसके लिए पुलिस के जवान एवं अधिकारी दुर्गा पंडालों से लेकर मार्गों एवं जलाशय तक नजरें बनाए रहे,

, नगर से गांव तक गूंजे गणपति बप्पा मोरिया अगले बरस फिर जल्दी आ के जयकारे

10 दिवसीय गणेश उत्सव के आखरी दिन सुबह से ही हवन पूजन पश्चात देर रात तक जारी रहा गणेश विसर्जन

विओ- अजयगढ़ के मोहल्लो में लगभग 7 से 8 जगह बड़ी गणेश प्रतिमाओं की स्थापना की गई थी इसके अलावा लगभग आधा सैकड़ा छोटी प्रतिमाएं और लगभग घर घर गणपति विराजे थे, श्रद्धालुओं द्वारा 10 दिनों तक हवन पूजन अनुष्ठान कन्या भोज एवं भंडारा उपरांत 19 सितंबर को भक्ति भाव से जलाते में विसर्जित कर दिया गया,

पुरुष महिलाओं युवक युवतियों बालक बालिकाओं को ढोल नगाड़ों की धुन में थिरकते हुए गणपति बप्पा मोरिया अगले बरस फिर जल्दी आ के जयकारों के साथ नगर गूंजता रहा,
स्थानीय नगरीय प्रशासन, पुलिस, राजस्व विभाग के अधिकारी कर्मचारी व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे शांति व्यवस्था बनाए रखने और किसी प्रकार की दुर्घटना ना हो उसके लिए पुलिस के जवान एवं अधिकारी दुर्गा पंडालों से लेकर मार्गों एवं जलाशय तक नजरें बनाए रहे,