वन मंत्री विजय शाह का नाम बलिदान स्थल की गेस्ट लिस्ट में शामिल नहीं था

Scn news india

रोहित नैय्यर ब्यूरो 

जबलपुर में गृह मंत्री अमित शाह के साथ राजा रघुनाथ शाह और शंकर शाह के बलिदान दिवस कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे वन मंत्री विजय शाह को माल गोदाम चौक पर बने बलिदान स्थल पर पुलिस वालों ने एंट्री नहीं दी,जिससे विजय शाह गौंड़ राजाओं को दूर से ही अपनी श्रधांजलि देते हुए नाराज होकर लौट गए,

 

दरअसल गृह मंत्री अमित शाह शहीद शंकर शाह और रघुनाथ शाह 164वें बलिदान दिवस के कार्यक्रम में शामिल होने जबलपुर पहुंचे थे,लेकिन अमित शाह के आने से पहले वन मंत्री विजय शाह शामिल श्रधांजलि देना चाहते थे,लेकिन पुलिस ने स्मारक में अंदर जाने से रोक दिया,इसके बाद विजय शाह ने पुलिस कर्मियों को खरी-खोटी सुनाई और कार्यक्रम स्थल से वापस लौट गए,बताया जा रहा है कि प्रोटोकॉल के तहत वन मंत्री विजय शाह का नाम बलिदान स्थल की गेस्ट लिस्ट में शामिल नहीं था,जिसके कारण ये वाकया हुआ है।

वही जहां एक तरफ वन मंत्री को प्रतिमा स्थल तक जाने नहीं मिला उन्हीं को देखते हुए जैसे ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जी का प्रतिमा स्थल के पास पहुंचने का समय हुआ तो गोंडवाना समाज के सभी समुदाय को वहां से अलग कर दिया गया जिसके बाद आदिवासी समुदाय में भारी आक्रोश भी देखने को मिला ,,वही संभागीय अध्यक्ष किशोरीलाल भलावी ने मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि यह केवल वोट बैंक की नीति भारतीय जनता पार्टी खेल रही है जो कि यह काम नहीं आएगी आदिवासी समुदाय इन की नीति समझ चुकी है।

बालकिसन चौधरी बीएसपी पार्टी

Live Web           TV