स्व-सहायता समूह से जुड़ी प्रत्येक महिला की आय प्रतिमाह 10 हजार रुपए बढ़े : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान

Scn news india

अल्केश साहू ब्यूरो 

  • स्व-सहायता समूह से जुड़ी प्रत्येक महिला की आय प्रतिमाह 10 हजार रुपए बढ़े : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान
  • राशन दुकानों का संचालन अब महिला स्व-सहायता समूहों को
  • 2550 करोड़ रूपये का बैंक ऋण समूहों को उपलब्ध कराने का लक्ष्य
  • श्रेष्ठ काम करने वाले समूहों को एक करोड़ रूपए का पुरस्कार
  • आजीविका मिशन ‘सौ फीसदी शुद्ध’ के आधार पर करें उत्पादों की ब्रांडिंग
  • मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बैतूल के महिला स्व-सहायता समूह से किया संवाद

बैतूल-मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्व-सहायता समूह से जुड़ी प्रत्येक महिला की आय में 10 हजार रूपए प्रतिमाह की बढ़ोत्तरी हो। आप मेहनत और प्रमाणिकता के साथ अपना काम करें, आगे बढ़ें सरकार हर कदम पर आपके साथ है। महिला स्व-सहायता समूहों को सुदृढ़ करने के लिए इस वर्ष 2550 करोड़ रूपये बैंक ऋण उपलब्ध कराने का लक्ष्य राज्य सरकार द्वारा निर्धारित किया गया है। राशन (पीडीएस) की दुकानें संचालित करने की जिम्मेदारी भी अब स्व-सहायता समूहों को दी जाएगी। इसके साथ ही स्व-सहायता समूहों के आय स्तर में वृद्धि के लिए श्रेष्ठ काम करने वाले क्लस्टर लेवल फेडरेशन को एक करोड़ रूपए का ईनाम दिया जाएगा। भोपाल स्थित भोपाल हाट में समूहों के उत्पादों की बिक्री के लिए आजीविका मार्ट की स्थापना की जाएगी। व्यापार बढ़ाने के लिए ऑनलाइन कॉमर्स पोर्टल के साथ भी लिंकेज किया जाएगा। महिला समूह के लिए सिंघाड़ा और मछली के व्यापार के लिए विशेष परियोजना बनाई जाएगी। समूहों के सभी पात्र सदस्यों को आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराए जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज राज्य स्तरीय महिला स्व-सहायता समूह के उन्मुखीकरण एवं संवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।