मप्र में जारी रहेगा झमाझम का दौर, छह जिलो में भारी बारिश का रेड अलर्ट

Scn news india
मनोहर
बरसात का सीजन बीतने में महज 16 दिन शेष हैं। मध्यप्रदेश में अभी तक सामान्य से छह फीसद कम बारिश हुई है। राजधानी में भी सामान्य से छह फीसद कम वर्षा हुई है। प्रदेश के 16 जिलों में सामान्य से 20 से लेकर 43 फीसद तक कम वर्षा हुई है। हालांकि वर्तमान में अलग-अलग स्थानों पर बने चार शक्तिशाली वेदर सिस्टम के असर से मंगलवार से मध्यप्रदेश में झमाझम बारिश का सिलसिला शुरू होने की संभावना है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अच्छी बारिश का दौर दो-तीन दिन तक बना रह सकता है। इससे सितंबर माह में प्रदेश में बारिश का कोटा पूरा होने की भी उम्मीद है। मंगलवार को प्रदेश के अधिकांश जिलों में झमाझम बारिश के आसार हैं।
मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों में प्रदेश के छह जिलों (उमरिया, शहडोल, अनूपपुर, डिंडोरी, मंडला एवं बालाघाट) में भारी से अति भारी बारिश की संभावना जाहिर करते हुए रेड अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के मुताबिक उक्त जिलों में साढ़े चार इंच से आठ इंच तक बारिश हो सकती है। इसके अलावा मौसम विभाग ने रीवा, सतना, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी, होशंगाबाद व बैतूल जैसे सात जिलों में भारी बारिश की संभावना जताते हुए ऑरेंज अलर्ट की श्रेणी में रखा है।
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान मंगलवार को सुबह साढ़े आठ बजे तक होशंगाबाद में 45, भोपाल (एयरपोर्ट) में 31.2, पचमढ़ी में 24, दतिया में 22.8, भोपाल (शहर) में 22.4, सीधी में 20.2, मलाजखंड में 13.4, रतलाम में सात, सतना में पांच, रीवा में 4.4, उमरिया में 4.2, छिंदवाड़ा में चार, जबलपुर में 3.5, सिवनी में 3.2, नरसिंहपुर में दो, खजुराहो में दो, नौगांव में 1.6, मंडला में 1.2, इंदौर में एक मिलीमीटर बारिश हुई।
ये चार वेदर सिस्टम हैं सक्रिय
मौसम विज्ञान केंद्र ने बताया कि वर्तमान में ओडिशा पर बना गहरा अवदाब का क्षेत्र अब छत्तीसगढ़ और उससे सटे मप्र के इलाकों में सक्रिय हो गया है। दक्षिणी गुजरात पर एक कम दबाव का क्षेत्र सक्रिय है। मानसून ट्रफ गुजरात पर बने कम दबाव के क्षेत्र से खंडवा, अंबिकापुर, ओडिशा से होकर बंगाल की खाड़ी तक मौजूद है। एक अन्य ट्रफ अरब सागर से गुजरात, दक्षिणी मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ होकर ओडिशा पर बने सिस्टम तक बना हुआ है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक चार शक्तिशाली वेदर सिस्टम बने रहने से पूरे प्रदेश में मंगलवार से झमाझम बारिश का दौर शुरू होने के आसार हैं। बारिश का सिलसिला दो-तीन दिन तक बना रह सकता है।