मालवीय दंपत्ति के सहयोग से चिल्कापुर में होगा भव्य मंदिर का निर्माण

Scn news india

माता पिता की स्मृति में मालवीय दंपत्ति ने की घोषणा। पचास हजार रुपये का चेक किया भेंट

धनराज साहू ब्यूरों

बैतूल जिले के अंतर्गत सतपुड़ा की सुरम्य वादियों में बसे भैंसदेही तहसील के ग्राम चिल्कापुर (गुदगांव) में मालवीय दंपत्ति के विशेष सहयोग से गणेश उत्सव के पावन अवसर पर श्रीगणेश- विट्ठल-रुक्मणी मंदिर का भव्य निर्माण किया जाएगा।
ग्राम चिल्कापुर में जन्मे तथा वर्तमान में मध्य प्रदेश विद्युत मंडल बैतूल में अपनी बेहतर सेवाएं दे रहे सुभाष मालवीय ने जिला विश्वकर्मा समाज महिला विंग की अध्यक्ष अपनी पत्नी श्रीमती सुषमा मालवीय के साथ गत् दिनों चिल्कापुर ग्राम में पधारकर चिल्कापुर में दिवंगत हुए अपने स्वर्गीय पिता रघुनाथ विश्वकर्मा (मिस्त्री) एवं माता श्रीमती जानकी बाई विश्वकर्मा की स्मृति में उनके तथा ग्रामवासियों के आपसी सहयोग से चिल्कापुर में श्री गणेश-विट्ठल-रुक्मणी मंदिर के भव्य निर्माण की घोषणा की थी।

 

मालवीय दंपत्ति सुभाष मालवीय एवं श्रीमती सुषमा मालवीय- रिपोर्ट -धनराज साहू ब्यूरों

जिस पर अमल करते हुए मालवीय दंपत्ति सुभाष मालवीय एवं श्रीमती सुषमा मालवीय ने निर्माण समिति के अध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष एवं सदस्यों के साथ ग्राम के जनप्रतिनिधियों एवं गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति में मंदिर निर्माण स्थल का भूमिपूजन किया तथा मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष गुलाबराव मगरदे एवं सचिव नारायण महाले को प्रथम चरण में पचास हजार रूपये का चेक भेंट किया। जिसकी सर्वत्र प्रशंसा की जा रही है। मंदिर निर्माण हेतु आगे भी उनका सहयोग जारी रहेगा। इस दौरान मंदिर निर्माण समिति के द्वारा मालवीय दंपत्ति का जोरदार स्वागत किया गया।


यहां यह उल्लेखनीय है कि सुभाष मालवीय का लगभग 60 वर्ष पूर्व ग्राम चिल्कापुर (गुदगांव) में ही जन्म हुआ था तथा उनके पिता रघुनाथ विश्वकर्मा एवं माता श्रीमती जानकीबाई विश्वकर्मा मूलतः ग्राम चिल्कापुर के ही निवासी थे। जहां काफी वर्ष पूर्व उनके माता-पिता का निधन हो चुका है। वर्ष 1987 में सुभाष मालवीय अपने परिवार के साथ बैतूल में शिफ्ट होकर वहीं के निवासी हो चुके है। वर्तमान में वे मध्य प्रदेश विद्युत मंडल बैतूल में अपनी बेहतर सेवाएं दे रहे हैं। उनकी अपने माता पिता के प्रति श्रद्धा एवं धार्मिक सोच की सर्वत्र प्रशंसा की जा रही है। ग्राम के जनप्रतिनिधियों, बुजुर्गों, युवाओं एवं मातृ शक्तियों ने मालवीय दंपत्ति के इस पहल की जोरदार सराहना करते हुए उन्हे धन्यवाद प्रेषित किया है।

मंदिर निर्माण हेतु निर्माण समिति का हुआ गठन
—————–
ग्राम में भव्य मंदिर निर्माण हेतु ग्रामवासियों एवं मालवीय दंपत्ति की उपस्थिति में बैठक आयोजित कर मंदिर निर्माण समिति का गठन किया गया है। जिसमें ग्राम के वरिष्ठ नागरिक गुलाबराव मगरदे को अध्यक्ष, श्रीराम बोड़खे को उपाध्यक्ष, ग्राम के युवा नारायण महाले को सचिव, अशोक बारस्कर को सह सचिव, विधायक प्रतिनिधि अशोक अड़लक को कोषाध्यक्ष एवं युवा नेता विश्वनाथ बोड़खे को सह सचिव की जिम्मेदारी सौंपी गई है। रामायण मंडल के समस्त सदस्य निर्माण समिति को आवश्यक व हरसंभव सहयोग प्रदान करेंगे।

सांसद प्रतिनिधि धनराज साहू, सरपंच धर्मराज कास्देकर, जनपद सदस्य दिलीप लोखंडे, अन्त्योदय समिति सदस्य लालाराम साहू, दादूराव पाटनकर, युवा नेता अरूण दवंडे,दिलीप राने, राजकुमार बोड़खे, केशोराव बारस्कर, अशोक बारस्कर, वासुदेव बारस्कर, डॉ.दिनेश दवंडे, सोहन साहू, भीमराव मस्की, कमलेश डोंगरे, कैलाश नाकतुरे,टुकड्या देशमुख आदि को निर्माण समिति में विशेष आमंत्रित सदस्य बनाया गया है। ग्रामवासियों एवं मालवीय दंपत्ति के सहयोग से ग्राम में भव्य मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो चुका है तथा भूमि पूजन के साथ ही मंदिर निर्माण का कार्य प्रारंभ हो गया है। रविराज स्टोन क्रेशर के संचालक रवि धाड़से एवं राज धाड़से ने भी मंदिर निर्माण में लगने वाली गिट्टी के सहयोग की घोषणा की है। जिनका निर्माण समिति की ओर से भव्य स्वागत किया गया। ग्राम के कई गणमान्य नागरिकों ने भी मंदिर निर्माण में सहयोग राशि देने की घोषणा की है। जिसका मंदिर निर्माण समिति ने स्वागत किया है। समिति के सचिव नारायण महाले ने मालवीय दंपत्ति सुभाष मालवीय, श्रीमती सुषमा मालवीय तथा रवि धाड़से व राज धाड़से सहित सभी दानदाताओं के प्रति आभार व्यक्त करते हुए लोगों से मंदिर निर्माण में सहयोग करने की अपील की है।