इतिहास बातयेगा कि GST का इम्प्लीमेंटेशन और नोटबंदी देश के सबसे बुरे निर्णय थे – विवेक तन्खा

Scn news india

शारदा श्रीवास जिला ब्यूरो मण्डला 

  • इतिहास बातयेगा कि GST का इम्प्लीमेंटेशन और नोटबंदी देश के सबसे बुरे निर्णय थे – विवेक तन्खा
  • कांग्रेस के राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने GST और नोट बंदी को लेकर केंद्र सरकार पर कसा तंज।
  • केंद्र सरकार राज्यों को नहीं दे रही उनके हिस्से का पैसा।
  • गैर भाजपा शासित राज्यों के मुख्य मंत्री खुलकर कह रहे है यह बात।

कांग्रेस के राज्य सभा सांसद विवेक तन्खा ने GST और नोट बंदी को लेकर केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए सवाल किया कि क्या ये फैसले उचित थे ? उन्होंने कहा कि जिस तरीके से GST को लागू किया गया और नोट बंदी की गई क्या ये जरुरी था ? क्या ये देश हित में था ? इतिहास बताएगा ये देश के सबसे बुरे फैसले थे। विवेक तन्खा एक कार्यक्रम में शामिल होने मंडला आए थे। जब उनसे पूंछा गया कि महंगाई सहित विभिन्न मुद्दों पर कांग्रेस सड़क पर नज़र नहीं आ रही, विपक्ष नहीं दिख नहीं रहा। इसके जवाब में विवेक तन्खा ने कोविड का हवाला देते हुए पार्टी का बचाव किया।

विवेक तन्खा, राज्य सभा सांसद

उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से संख्या कम रखनी पड़ती है। यदि हम बड़े प्रदर्शन करेंगे तो कानून का उल्लंघन तो होगा ही और इससे कोविड भी फ़ैल। उन्होंने बंगला चुनाव की बात करते हुए कहा कि वहां कोरोना से कई लोगों की मौत हुई। उन्होंने कहा कि प्रदेश का संघीय ढांचा जो GST पर निर्भर है जो पूरी तरह से पिट गया हैं। उन्होंने केंद्र पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्होंने सभी अधिकार छीन लिया। राज्यों को जो पैसा सेल टैक्स और एक्साइज से मिलता था वो रोक दिया।

केवल अल्कोहल और पेट्रोल से कुछ मिल रहा है। आपने जब राज्यों से सभी अधिकार छीन लिए और वो पैसा आप खुद वसूलने लगे और समय पर उन्हें नहीं दोगे तो राज्य सरकार कैसे चलेगी ? भाजपा राज्यों के मुख्यमंत्रियों की यह बोलने की हिम्मत नहीं है लेकिन गैर भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने यह बात कही है।