भैसाई नदी पर गौर लाने उमड़ी महिलाओं की भीड़

Scn news india

दिलीप पाल 

आमला.हरतालिका तीज व्रत पर बोरदेही भैसाई नदी पर गौर बालू लाने हेतु सुहागन महिलाओं की भीड़ उमड़ पड़ी। हरतालिका तीज व्रत पर सामूहिक रुप से निर्जला व्रत रखकर सुहागन महिलाएं गौर लाकर शिवलिंग बनाती है तथा पूजन करती है। परम्परा अनुसार हरतालिका तीज पर भगवान श्री गणेश शिव और मां पार्वती की पूजा की जाती है।

भगवान शिव को बेलपत्र का देवड़ा फूल फल जल अर्पित किए जाते हैं। माता पार्वती को श्रृंगार की सामग्री चढ़ाई जाती है शाम भगवान शंकर एवं माता पार्वती की मिट्टी की प्रतिमा बनाकर पूजा अर्चना करते हैं | सभी महिलाएँ रात के समय पुजन पांठ के बाद भजन कीर्तन का कार्यक्रम करते हैं जो पुरी रात चलता है | वृत रखने वाली सभी महिला हरतलिका तीज व्रत कथा पढ़कर सुनाई जाती है | वेदों के अनुसार बताया जाता है तीज की पुजा सूर्यास्त के बाद प्रदोष काल में करना सबसे शुभ माना जाता है सुहागन महिलाएं अखंड सुहाग, सुखी दांपत्य और संतान के लिए यह व्रत रखती है। वहीं कुंवारी युवती सुयोग्य वर की चाह में यह व्रत करती हैं। कल गौर का विसर्जन के साथ चीज का व्रत समाप्त होगा।