कम दबाव का क्षेत्र पहुंचा मालवा, बरसेंगे बादल

Scn news india
मनोहर
बंगाल की खाड़ी से आया कम दबाव का क्षेत्र बुधवार को मालवा होते हुए गुजरात की ओर निकल गया है। इस कारण ग्वालियर में झमाझम बारिश नहीं हो पा रही है। सिस्टम काफी दूर होने से बुधवार को शहर में रिमझिम बारिश ही हो सकी। इस बारिश से गर्मी से राहत मिल गई। दोपहर में धूप नहीं निकलने से अधिकतम तापमान 32.6 डिसे पर आ गया, जो सामान्य से 0.5 डिसे कम रहा। इससे गर्मी की चुभन कम रही। मौसम विभाग ने 9 सितंबर से हलकी से मध्यम बारिश के आसार जताए हैं।
बंगाल की खाड़ी में मानसून सक्रिय है। एक कम दवाब का क्षेत्र विकसित होने के बाद आगे बढ़ा था। दक्षिण पश्चिम मध्य प्रदेश होते हुए गुजरात की ओर निकल गया है। ग्वालियर इस सिस्टम के उत्तर में आ गया। मानसून ट्रफ लाइन भी सिस्टम के सहारे जा रही है। इन सभी कारणों से शहर में झमाझम बारिश नहीं हो पा रही है। नमी व धूप के कारण दिनभर बादल छाए रहे। दोपहर में कहीं-कहीं बूंदाबांदी हुई। शाम को रिमझिम बारिश हुई। 6 किमी प्रतिघंटा की गति से पूर्वी हवा चलने से नमी आ गई। नमी के कारण हलकी बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार 11 सितंबर से नया सिस्टम बन रहा है। इससे बारिश की उम्मीद रहेगी।
गुना तक ही भारी बारिश के आसार
9 सिंतबर को मौसम विभाग ने गुना तक भारी बारिस के आसार जताए हैं। कम दबाव के क्षेत्र का गुना तक ही असर आ रहा है। ग्वालियर, दतिया, भिंड में गरज चमक के -साथ बारिश की संभावना बताई है।
– 11 सितंबर को बनने वाला कम दबाव का क्षेत्र ग्वालियर चंबल संभाग के पास से गुजर सकता है। इस कारण बारिश की उम्मीद बनेगी। यह बारिश 12 सितंबर के बाद हो सकती है।
– शहर सहित जिले को एक झमाझम बारिश की उम्मीद में है। बारिश नहीं होने से उमस नहीं घट रही है।