गणपति जी की आकर्षक प्रतिमाओं से सजने लगे बाज़ार, कलाकारों के परिवार मिट्टी की प्रतिमाओं को रंगों से निखारने में जुटे

Scn news india

सुनील यादव कटनी

कटनी-कोरोना संक्रमण लगभग कम होने के बाद गजानन भी उम्मीदों के रंगों से खिलने लगे हैं। गणेश चतुर्थी को लेकर कलाकार बप्पा की प्रतिमाओं में रंग भरने में जुटे हैं। बाजार भी गणपति की आकर्षक प्रतिमाओं से सजने लगा हैं। कलाकारों के परिवार मिट्टी की प्रतिमाओं को रंगों से निखारने को जुटे हैं।

दो साल से कोरोना संक्रमण ने तीज- त्योहारों को घर में ही कैद करके रखा है। संक्रमण कम होते ही अब पर्व और उत्सवों को लेकर समाज में उत्साह भी दिखने लगा है। इस बार 10 सितंबर को गणेश चतुर्थी है, इस दिन गणपति को सार्वजनिक पांडाल और घरों में विराजने का काम होगा।

बप्पा के स्वागत को भक्तों की टोलियां तैयार होने लगी हैं। गलियों में भी बैनर लगाए जा रहे हैं। मूर्तिकार भी प्रतिमाओं को फाइनल टच दे रहे हैं। जेल चौराहा, ईशन नदी पुल, चांदेश्वर आश्रम रोड़ और घंटाघर आदि जगहों पर प्रतिमाओं की बिक्री शुरू हो गई है। मूर्तिकार भी प्रतिमाएं तैयार कर रहे हैं। जूट और पीओपी से बन रही प्रतिमाएं।