ग्वालियर- पाँच हजार रुपए में फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाने वाले युवक को जयारोग्य अस्पताल प्रबंधन ने पकड़ा

Scn news india

रिपोर्टर अनिल सिंह ब्यूरो/मानव शर्मा 

ग्वालियर अंचल के सबसे बड़े जयारोग्य अस्पताल प्रबंधन ने सूझबूझ से फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाने वाले एक युवक को पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया है।शातिर युवक महज आधे घंटे में 5हजार रुपये लेकर फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाकर दे देता था।

युवक के पास से 34 फर्जी आयुष्मान कार्ड, लैपटॉप, थम्ब इम्प्रेशन मशीन पुलिस ने बरामद की है युवक से पुलिस की पूछताछ जारी है।

डॉ आरकेएस धाकड़ जयारोग्य अस्पताल अधीक्षक ग्वालियर

फर्जीवाड़ा करने वाले अब आयुष्मान योजना में भी सेंध लगा चुके हैं। फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाकर ये लोग खुद तो कमाई कर रहे हैं लेकिन लाभार्थियों को इसका फायदा नहीं मिल रहा। ग्वालियर अंचल के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में मंगलवार को एक ऐस ही युवक पकड़ में आया जो महज आधे घंटे में आयुष्मान कार्ड बनाकर दे देता है। लेकिन ये आयुष्मान कार्ड असली नहीं फर्जी होता है। पूरे फर्जीवाड़े खुलासा ऐसे हुआ कि जयारोग्य अस्पताल में भर्ती एक मरीज को आयुष्मान कार्ड की जरुरत थी। उसने एप्लाई किया लेकिन उसका लिस्ट में नाम नहीं था तो आयुष्मान कार्ड नहीं बन पा रहा था।

राम कुमार राजपूत शिकायतकर्ता

इसी दौरान उसकी मुलाकात जयारोग्य अस्पताल में कृष्णा कुशवाह नमक युवक से हुई कृष्ण ने कहा कि वह आयुष्मान कार्ड बनवा कर देगा उसके लिए 5000 रुपये देना होंगे।मरीज को को कुछ शक हुआ तो उसने जयारोग्य अस्पताल के आयुष्मान योजना प्रभारी अपने मित्र योगेंद्र परमार को बताई चूँकि फर्जीवाड़े के सूचना पहले भी आ रही थी तो योगेंद्र परमार ने कृष्णा को अस्पताल बुलवा लिया और फिर उसे पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया।

कृष्णा आरोपी
आरोपी कृष्णा की तलाशी ली गई तो उसके पास से 34 लैमिनेटेड फर्जी आयुष्मान कार्ड मिले, एक लैपटॉप , थम्ब इम्प्रेशन मशीन भी मिली है। अब इस मामले में थाना कंपू पुलिस आरोपी युवक से पूछताछ कर कार्रवाई कर रही है।

हेमन्त प्रजापति एसआई थाना कंपू ग्वालियर