मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में जारी रहेंगी सक्रिय मॉनसून की गतिविधियां

Scn news india
मनोहर
पिछले 24 घंटों के दौरान महाराष्ट्र के कई हिस्सों में मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश दर्ज की गई है। रत्नागिरी, महाबलेश्वर, मुंबई, औरंगाबाद, बीर, जलगांव और जालना में भारी बारिश दर्ज की गई। इसी तरह, दक्षिण और पूर्वी मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में अच्छी बारिश हुई।
बंगाल की खाड़ी के पश्चिम मध्य और उससे सटे मध्य भागों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र जल्द ही एक कम दबाव का क्षेत्र बनाएगा। यह कम दबाव का क्षेत्र पश्चिम दिशा में उड़ीसा और दक्षिण छत्तीसगढ़ से होते हुए मध्य प्रदेश तक जाएगा। महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों और मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में अगले 3 से 4 दिनों के दौरान कम से कम 9 सितंबर तक सक्रिय मानसूनी बारिश हो सकती है। इस अवधि के दौरान पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश में हल्की बारिश होने के आसार हैं। सीधी, सतना, सिंगरौली और पन्ना जैसी जगहों पर हल्की बारिश हो सकती है।
1 जून से 4 सितंबर के बीच, महाराष्ट्र में 2% अधिक बारिश दर्ज की गई है जबकि मध्य प्रदेश में 8% की कमी है। यह बारिश निश्चित रूप से दोनों राज्यों के बारिश के आंकड़ों में सुधार करेगी। कम दबाव का क्षेत्र मध्य प्रदेश के उत्तर मध्य भाग पर 10 या 11 सितंबर तक बने रहने की उम्मीद है। इसलिए 9 सितंबर के बाद महाराष्ट्र में बारिश की गतिविधियां कम हो जाएंगी, लेकिन पश्चिम और उत्तरी मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में सक्रिय मानसून की स्थिति जारी रह सकती है।