आदिवासी कर्मचारी अधिकारी संगठन ने उठाई मांग

Scn news india

रोहित नैय्यर ब्यूरो जबलपुर 

नीमच जिले के सिंगौली थाना क्षेत्र के ग्राम गाणना तहसील सिंगौली जिला नीमय म.प्र. में गरीब आदिवासी कन्हैयालाल गाँस की नृशंस हत्याकांड का प्रकरण फास्टट्रेक कोर्ट में चलाकर दोषियों को फांसी की सजा दिलवाने के संबंध में।

सीएल मरावी

दिन प्रतिदिन आदिवासी समाज के साथ घोर अन्याय एवं अमानवीयतापूर्ण व्यवहार के साथ साथ उनकी हत्या कर दी जा रही है। इस वातावरण में आदिवासी समाज का जीवन यापन करना अत्यंत दुखदायी है महोदय, दिनांक 26 अगस्त 2021 को ग्राम बापना तह सिंगौली जिला नीमच मध्यप्रदेश के एक गरीब आदिवासी कन्हैयालाल भील को छीतरमल गुर्जर और उनके साथी द्वारा मारपीट की गई तथा इनके पीकअप वाहन के पीछे रस्सी से बांधकर घसीटा गया जिसका परिणाम कन्हैया लाल भील की अस्पताल पहुंचने पर मृत्यु हो गई। इस प्रकार की करता पूर्ण कृत्य छीतरमल गुर्जर एवं उनके साथियों द्वारा किया गया जो कि अमानवता की पराकाष्टा में आता है ,

डॉक्टर सुरेश कुमार उईके

आरोपियों के द्वारा दी गई दरिदंगी का आदिवासी समाज में भारी आकांस व्यास है मध्यप्रदेश शासन को आदेश दिया जाये कि आरोपियों पर कठोर से कठोर कार्यवाही कर फांसी की सजा दिलाई जाये जिससे कि भविष्य में इस प्रकार की घटना न हो पाये । कन्या लाल मील के परिवार में वह एक मात्र परिवार को पालने वाला व्यक्ति था मध्यप्रदेश शासन परिवार के किसी एक सदस्य को नौकरी दे एक करोड़ रूपये का मुआवजा परिवार को दिया जाये ।