93 मेगावाट न्यूक्लियर बिजली की उपलब्धता के लिए पावर परचेस एग्रीमेंट हस्ताक्षरित, मध्यप्रदेश को मिलेगी 15 वर्ष तक परमाणु बिजली

Scn news india

मनोहर 

भोपाल-एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड और भारत सरकार के न्यूक्लियर पावर कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआईएल) के मध्य गत दिवस 93 मेगावाट बिजली क्रय करने के लिए एक पावर परचेस एग्रीमेंट (पीपीए) काकरापार में हस्ताक्षरित हुआ। मध्यप्रदेश को गुजरात स्थि‍त काकरापार परमाणु विद्युत गृह से उत्पादित होने वाली बिजली में से 93 मेगावाट बिजली 15 वर्षों तक मिलेगी। मध्यप्रदेश को प्राप्त होने वाली बिजली की वर्तमान दर 2.289 रुपये प्रति यूनिट है। पावर परचेस एग्रीमेंट पर एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी की ओर से मुख्य महाप्रबंधक श्री प्रमोद चौधरी और काकरापार के स्टेशन डायरेक्टर श्री ए. बी. देशमुख ने हस्ताक्षर किए। पावर मैनेजमेंट कंपनी की ओर से यह एग्रीमेंट बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की 99 वीं बैठक में लिए गए निर्णय के अनुपालन में किया गया है।

ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा है कि इस पावर परचेस एग्रीमेंट से मध्यप्रदेश को 15 वर्षों तक सस्ती दर पर 93 मेगावाट बिजली उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि इस प्रदूषण रहित उपलब्ध होने वाली बिजली से कॉर्बन उत्सर्जन कम करने में मदद मिलेगी।

उल्लेखनीय है कि काकरापार परमाणु विद्युत गृह से पूर्व में किया गया 15 वर्षीय एग्रीमेंट वर्ष 2020 में समाप्त हो गया था, लेकिन काकरापार से उपलब्ध होने वाली बिजली की दर अन्य उपलब्ध होने वाली बिजली की दरों से कम थी, इसलिए इस एग्रीमेंट को पुन: 15 वर्षों के लिए हस्ताक्षरित किया गया है।