जिले में कक्षा 6 से 12 तक के स्कूल गाइड लाइन के तहत खुले

Scn news india

हर्षिता वंत्रप 

भोपाल – राजधानी भोपाल में बुधवार से  शासकीय सहित अन्य विद्यालयों में शिक्षण कार्य प्रारंभ हो गया । राज्य शासन के निर्देश अनुसार निर्धारित कोविड प्रोटोकाल और 50 फीसदी विद्यार्थियों की उपस्थिति के साथ शिक्षण कार्य प्रारंभ हुआ।

   नवीन कन्या स्कूल तुलसी नगर में विद्यार्थियों की पर्याप्त उपस्थिति रही। विद्यालय की प्राचार्या डॉ. वंदना शुक्ला ने बताया कि स्कूल में 6वीं से 12 वीं तक के लिए खोले गये है। छात्र-छात्राओं की 50 प्रतिशत उपस्थिति के लिए हमने वाट्सएप पर मैसेज भेजे थे। जिसके अनुसार हमने यह कोशिश है कि हर टेबल पर एक-एक छात्र-छात्रा बैठे। उन्होंने बताया कि हमारे स्कूल में आज 40 प्रतिशत बच्चें उपस्थित हुए है और बच्चों में स्कूल आने के लिए बहुत उत्साह है । स्कूल में आने के बाद बच्चों को सैनिटाइज, मास्क, सोशल डिस्टेसिंग और टेम्पेचर चेक किया जाता है। इस प्रकार हम कोरोना गाइड लाइन के प्रोटोकाल का पालन करवा कर अपना विद्यालय संचालित कर रहे हैं।

एकीकृत शासकीय निर्मल मीरा बालक माध्यमिक शाला, भोपाल की प्राचार्या श्रीमती लक्ष्मी भार्गव ने बताया कि बच्चों में स्कूल आने का बहुत उत्साह है। सभी बच्चों अपने-अपने माता-पिता की अनुमति पर ही स्कूल आये है। सभी बच्चें ने अपनी-अपनी कक्षा में मास्क लगाकर रखे हुए है। सभी कक्षाओं के बाहर सैनिटाइज रखा हुआ है और सभी बच्चों कोरोना गाइन लाइन का पालन भी कर रहे हैं। बच्चों को आपस में एक – दूसरे से मिलने नहीं दिया जाता है सभी बच्चें अपनी-अपनी टेबिल पर ही दूरी बनाकर बैठते है।

   राज्य में वैक्सीनेशन महाअभियान-2 के सफल संपादन के बाद नागरिकों को सुरक्षा मिली है, कुछ जरूरी व्यवस्थाओं के साथ विद्यालय प्रारंभ करने के आदेश दिए गए है। इस दौरान  आवश्यक हुआ तो ऐसे शिक्षकों जिनके वैक्सीन के दोनों डोज पूरे नहीं हुए हैं, उनके लिए पृथक विशेष टीकाकरण-सत्र में वैक्सीन लगाने की व्यवस्था की जाएगी।
   समस्त शासकीय और अशासकीय विद्यालयों में बुधवार से कक्षा 6 से 12 तक की कक्षाएँ 50% विद्यार्थियों की उपस्थिति में प्रारंभ की गई है। इसमें अभिभावकों की सहमति और कोविड 19 की गाइडलाइन का सख्त पालन करना अनिवार्य किया गया है। नागरिकों से अपील की गई है कि कोरोना अनुकूल व्यवहार सुनिश्चित करें और पूरी सावधानी के साथ शिक्षण कार्य की व्यवस्था में सहयोग करें।