आज से बिल देना अनिवार्य हुआ

Scn news india

रोहित नैय्यर ब्यूरो 

जबलपुर -जहरीली शराब से होने वाली मौतों,शराब के अवैध कारोबार को रोकने और शराब कारोबारियों के सिंडीकेट को खत्म करने के मकसद से आज से सरकार ने शराब खरीदने वालों को बिल देना अनिवार्य कर दिया है,जिसके तहत कैश मेमो दुकान संचालक अपने हाथ से बनाकर देगा, जिसमें दिन,दिनांक, शराब के ब्रांड का नाम, रुपए और मात्रा दर्ज करनी होगी,इसके कारण शराब दुकानदार MRP यानी बोतल पर दर्ज कीमत से ज्यादा रुपए नहीं ले पाएंगे,

जबलपुर में आज से शराब की दुकानों पर लागू हुई इस नई व्यवस्था पर अमल करने जहां आबकारी विभाग का अमला दुकान दुकान जाकर सरकार के नए फैसले का पालन कराने सुबह से ही मुस्तैद दिखा,तो वहीं मदिरा प्रेमियों के चेहरे एमआरपी पर शराब मिलने के बाद खिले नज़र आए,इसके अलावा शराब की दुकान के बाहर बिल लेना अनिवार्य और आबकारी अधिकारी का नंबर भी लिखवाया गया है,ताकि दुकानदार बिल या कैश मेमो नहीं देता है,तो शराब खरीदी वाला आबकारी अधिकारी के फोन पर शिकायत दे सकता है,इसके साथ ही ज्यादा रेट लेने और खराब शराब पीने के बाद यदि ग्राहक को कुछ होता है,तो संबंधित दुकानदार की जिम्मेदारी तय की जाएगी.

और शराब खरीदने के बाद ग्राहक बिल नहीं लेता और उसकी तबीयत बिगड़ती है तो ऐसे में जिम्मेदारी ग्राहक की होगी,इसके अलावा पुलिस और आबकारी विभाग के सवालों के जवाब भी देने होंगे,दरअसल जबलपुर समेत पूरे मध्यप्रदेश में शराब कारोबारियों ने सिंडिकेट बना रखा था,सिंडिकेट के जरिए जहां लोगों को तय दामों से ज्यादा कीमत चुका कर शराब खरीदनी पड़ रही थी,वहीं अवैध शराब का कारोबार भी जमकर फल फूल रहा था,इतना ही नहीं मुनाफा कमाने के चक्कर मे शराब माफ़िया जहरीली शराब परोस कर जान से खिलवाड़ कर रहे थे,इन तमाम बातों को देखते हुए आज से शराब दुकानों के लिए नए नियम लागू किए गए है।