अवैध प्लाटिंग करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करें : कलेक्टर

Scn news india

हेमंत वर्मा 
राजनांदगांव । कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा ने कहा कि जिले में अवैध प्लाटिंग करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि सभी नगरीय निकायों में अवैध प्लाटिंग की शिकायत मिल रही है, इनके विरूद्ध एफआईआर दर्ज करें। इसके लिए विधिक सलाहकार नियुक्त करते हुए नियमों के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएं। इसके साथ ही अवैध प्लाटिंग भूमि पर अवैध प्लाटिंग भूमि पर कार्रवाई होने का बोर्ड लगाएं। उन्होंने कहा कि कुछ महीनों बाद धान खरीदी प्रारंभ होगी, इसके लिए पहले की तैयारी पूरी कर ली जाए। धान खरीदी केन्द्र में शेड निर्माण कार्य धान खरीदी के पहले पूरा करें। सोसायटी समिति के सदस्य, स्थानीय जनप्रतिनिधि, किसानों से चर्चा करें और वहां होने वाली समस्याओं की समीक्षा कर दूर करें। उक्त बातें कलेक्टर श्री सिन्हा ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में समय-सीमा बैठक के दौरान कही।
कलेक्टर श्री सिन्हा ने कहा कि राजीव गांधी भूमिहीन किसान न्याय योजना 1 सितम्बर से प्रारंभ किया जा रहा है। इसमें प्राथमिकता के साथ कार्य करें। सभी पात्र हितग्राहियों का सावधानी के साथ चयन किया जाएं। वहीं अन्य पिछड़ा वर्ग गणना 1 सितम्बर से प्रारंभ होगी। इसके लिए पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की गई है। ऑनलाईन पंजीकरण, डाटा सत्यापन के कार्य को प्राथमिकता से करें। उन्होंने कहा कि जिले में कल से सुपोषण अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। इसमें समुदाय की भागीदारी जरूरी है। मोहला, मानपुर एवं चौकी में विशेष रूप से अभियान चलाकर कुपोषित बच्चों, एनिमिक माताओं का चयन करें एवं उनकी विशेष रूप से देखभाल की जाए। उन्हें दवाईयां, पौष्टिक भोजन समय पर उपलब्ध कराएं। सभी अधिकारी आंगनबाड़ी केन्द्रों में जाकर इसकी समीक्षा करें तथा वहां सुपोषण के लिए किए जाने वाले कार्यों की जानकारी रखें।
कलेक्टर श्री सिन्हा ने कहा कि जिले में 11 सितम्बर को लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। आय, जाति, निवास, नामांतरण, बटवारा तथा राजस्व से संबंधित सभी प्रकरण को प्राथमिकता के साथ करें। उन्होंने कहा कि जिले में खेलकूद और सांस्कृतिक गतिविधियों के लिए प्रशिक्षण दिया गया है। स्थानीय स्तर पर इसका क्रियान्वयन किया जाएं। जिले में 1 सितम्बर से स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम विद्यालय पूरी तरह से प्रारंभ करें। सभी स्कूलों में इसका संचालन सुनिश्चित करें। लैब निर्माण कार्य प्राथमिकता के साथ पूरा करें। भवन निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्ण एवं समय-सीमा में पूरा करें। उन्होंने कहा कि सभी जिला अधिकारियों को ग्रामों का निरीक्षण कार्य सौंपा गया है। वे स्कूल, आंगनबाड़ी केन्द्र, गौठान तथा शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं के क्रियान्वयन का निरीक्षण कर समीक्षा करें एवं रिपोर्ट प्रस्तुत करें। स्कूल तथा आंगनबाड़ी केन्द्रों में प्रतिदिन बनने वाले भोजन का मीनू चार्ट लगाएं और इसी के अनुरूप भोजन बनाएं। सभी स्कूलों मेंं शिक्षकों की उपस्थिति सुनिश्चित करें।
कलेक्टर श्री सिन्हा ने कोविड-19 की तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए इसकी तैयारी के संबंध में समीक्षा की। उन्होंने कहा कि बुधवार और गुरूवार को टीकाकरण अभियान चलाकर कार्य करें। जिन हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर में निर्माण एवं मरम्मत कार्य अप्रारंभ है, उसे प्रारंभ करें तथा समय-सीमा में पूरा करें। उन्होंने गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि गौठान में मल्टीएक्टिीविटी गतिविधियां कराना सुनिश्चित करें। गौठान में ले आउट सुधार कर कार्य करें। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा सभी विभागों को लक्ष्य दिया गया है। उन लक्ष्यों के अनुरूप कार्य कर पूरा करें। सभी निर्माण एजेंसी अपना कार्य समय-सीमा में पूरा करें। चिटफण्ड कंपनी की राशि वापसी के लिए प्राप्त आवेदनों का एन्ट्री करें। उन्होंने फसल बीमा, गिरदावरी जांच, जनचौपाल के प्रकरण, समय-सीमा के प्रकरण, प्रधानमंत्री पोर्टल प्रकरण, लोक सेवा गारंटी से प्राप्त आवेदनों का समय-सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिए।
जिला पंचायत सीईओ श्री लोकेश चंद्राकर ने कहा कि गोधन न्याय योजना शासन की महत्वाकांक्षी योजना है। प्रत्येक विकासखंड के मॉडल गौठान में गौठान समिति गतिशील रहें तथा सभी रिकार्ड उपलब्ध होना चाहिए। इन गौठानों में स्वसहायता समूह द्वारा विभिन्न गतिविधियां संचालित होना चाहिए। इस अवसर पर वनमंडलाधिकारी राजनांदगांव श्री एन गुरूनाथन, अपर कलेक्टर श्री सीएल मारकण्डेय, एसडीएम राजनांदगांव श्री मुकेश रावटे सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। वीडियो कांफे्रसिंग के जरिए सभी एसडीएम एवं विकासखंड स्तरीय अधिकारी जुड़े रहे।