आमला के नीरज ने 35 वी बार रक्तदान कर बचाई जान

Scn news india

दिलीप पाल 

गंभीर बीमारी से पीड़ित दिव्यांग की मदद हेतु जिला चिकित्सालय पहुँचकर किया रक्तदान

वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के दौर में जब लॉकडाउन और वैक्सीनेशन के कारण रक्तदान करने वालों में अच्छी खासी कमी आई है।
ऐसे में विपदा की घड़ी में हमेशा आगे रहने वाले आमला के युवा रक्तदान हेतु अपना कर्तव्य निभा रहे है।

मंगलवार एक घटना जिला चिकित्सालय में चर्चा का विषय बनी जब गंभीर बीमारी से पीड़ित दिव्यांग के परिजन को डॉक्टरों ने शीघ्र रक्त की व्यवस्था करने को कहा था ताकि जटिल स्थिति आने से पहले ही उसे बचाया जा सके। क्योंकि पीड़ित के शरीर मे 2 ग्राम से भी कम रक्त बचा था एवं रक्त समूह ए निगेटिव था जो दुर्लभ माना जाता है।


जिसकी जानकारी माँ शारदा सहायता समिति के शैलेन्द्र बिहारिया ने आमला के जागरूक युवा और रक्तदानी नीरज बारस्कर को दी और रक्तदान करने का आग्रह किया।
नीरज ने तत्काल आमला से बाइक से 25 किलोमीटर का सफर तय कर जिला चिकित्सालय बैतूल पहुँचकर 35 वी बार रक्तदान कर इंसानियत का परिचय दिया।
जनसेवा कल्याण समिति के पंकज उसरेठे ने बताया कि नीरज जिले के उन रक्तदाताओं में शामिल है जिन्होंने जिले में रक्तदान जागरूकता की पहल में विशेष कार्य किया है जिसका असर है कि आमला से बड़ी संख्या में युवा रक्तदान करते है जिससे कई लोगो को जीवनदान मिलता है।

 

Live Web           TV