बड़े धूमधाम से मनाया माँ रेणुका आगमन दिवस व निकली भव्य शोभायात्रा

Scn news india

भरत साहू ब्यूरो आठनेर 

बैतूल के प्रसिद्ध रेणुका माता सिद्ध पीठ धामनगांव में आगमन स्थापना मोहत्सव के अवसर पर 30 अगस्त को माता रेणुका को की भव्य शोभायात्रा निकालकर उत्सव मनाया गया, सोमवार सुबह बजरंग चौक पर राम भक्त हनुमान जी की पुजा अर्चना कर माता की शोभायात्रा बाजे गाजे के साथ निकाली जो ग्राम सिताढाना और धामनगांव में भ्रमण किया भव्य शोभायात्रा में ग्राम की महिलाओं ने आरती लेकर स्वागत किया तो वहीं डीजे और बाजे गाजे की धुन पर युवा महिलाएं नाचते-गाते नजर आए तो वहीं रिम झीम बारिश में निकली शोभायात्रा और कृष्णा जन्माष्टमी के पर्व पर महिलाओं ने डांडीया किया तो वहीं बहार से आए आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र के लोगों ने भी आदिवासी नृत्य करते नजर आए सुबह आठ बजे से निकली भव्य शोभायात्रा चार बजे रेणुका सिद्ध पीठ पर पहुंची जिसके बाद रेणुका माता की महाआरती के साथ महाप्रसादी का वितरण किया गया,,

कृष्णा जन्माष्टमी के अवसर पर आन्द भयो जय कन्हैया लाल की के जय कारों के साथ बीस फीट ऊपर लटकी मटकी फोड़ कर प्रसाद वितरण किया गया,

विधायक और पूर्व लोकसभा प्रत्याशी रामू टेकाम ने नृत्य कर की महाआरती

प्रतिवर्ष होने वाले 30 अगस्त के भव्य शोभायात्रा और मां रेणुका का आशीर्वाद लेने पहुंचे क्षेत्रीय विधायक धरमू सिंग सिरसाम , पुर्व लोकसभा प्रत्याशी रामू टेकाम, पुर्व मण्डी अध्यक्ष प्रमोद माहाले,विनय शंकर पाठक, जनपद पंचायत अध्यक्ष संजय मावसकर,विकेश मालवीय, मण्डल महामंत्री क्रेशर लोखंडे, विधायक प्रतिनिधि अशोक अडलक, डाक्टर संदिप मगरदे , मौजूद रहे वहीं विधायक और रामू टेकाम ने भव्य आयोजन देखकर ग्रामीणों की तारिफ तो वहीं गोंडी नृत्य पर किया नृत्य

रेणुका माता के इतिहास से श्रृदालू हुए रूबरू

वहीं जानकार लोगों द्वारा मां रेणुका के चमत्कार और घटीत घटनाओं का वर्णन कर मां रेणुका की महीमा से कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को जानकारी दी गौरतलब हो कि धामनगांव और क्षेत्रवासीयो के लिए 30 अगस्त पावन त्यौहार के समान है आज ही के दिन सन् 1992 30 अगस्त को बैतूल अभिलेखागार में कैद मां रेणुका को न्यायालय से मुक्त कर उसके निजधाम रेणुका सिद्ध पीठ बड़ी धूमधाम और बाजे गाजे के साथ ग्रामीणों ने खण्डित मुर्ती को पुनः गांव लाया गया था इसी पावन अवसर को खुशी का दिन मानकर प्रतिवर्ष बड़ी धूमधाम से माता की शोभायात्रा निकाली जाती है और इस महाआरती में लगभग 4000 हजार लोग सामिल होकर मां रेणुका का आशीर्वाद प्राप्त करते हैं इस पुनित कार्य में सभी ग्राम व क्षेत्र वासियों का भरपूर सहयोग रहता है