सावधान ! कट कॉपी पेस्ट कंटेंट चोरी का अपराध है, एफआईआर भी हो सकती है -बकलोल : मीडियानामा

Scn news india

बकलोल : मीडियानामा

बैतूल- कट कॉपी पेस्ट का फार्मूला बैतूल की नव पत्रकारिता में हिट हो चुका है। यहां वहां से मटेरियल उड़ाकर शेडियाजी बनने में कोई कोर कसर बाकी नही रखी जा रही। पोर्टलबाजी या सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर यह जबरदस्त तरीके से चल रहा। यह सब इतनी बेशर्मी से किया जा रहा कि जहां से यह मटेरियल उड़ाया जा रहा उस प्लेटफार्म को क्रेडिट भी नही दिया जा रहा। जबकि यह एक तरह का कंटेंट चोरी जैसा अपराध है यदि कोई आपत्ति ले ले तो एफआईआर तक दर्ज हो सकती है। यह सब दो तीन कारणों से किया जा रहा है। पहला यह कि कुछ को गाय पर निबंध ही नही लिखना आता, वही कुछ ऐसा कर भलाई बुराई से बचते हुए अपने अगाध ज्ञान का भरपूर प्रोपेगण्डा करना चाहते है। लोकल लेवल पर न तो मुद्दों की कमी है और न कंट्रोवर्सी का टोटा है और न ही कंटेट की दिक्कत पर आयते मटेरियल पर दुकान सजाने की आदत पड़ी हुई है। कम से कम कुछ तो बदलाव कर ले पर यह भी जहमत नही उठाते।
दिन भर में एक दो ही करे तो समझ भी आता पर कुछ तो दिन भर पटापट व्हाट्सएप ग्रुप पर देश प्रदेश का कचरा डालते ही रहते है । इस कचरे का बैतूल का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष भी लेना देना नही रहता है। कचरे से काम की सूचना या नालेज भी नही मिलता फिर भी ठेकते रहते है। एक और ट्रेंड यह भी है कि एक घटना या दुर्घटना को अलग अलग लोग एक ही टाइप टिकाने से बाज नही आते , कुछ भी डिफ्रेंसियटर नही होता , यही हालत प्रेसनोट के मामले में भी देखने मे आती है उसे एक्सक्लूसिव टाइप ट्रीटमेंट देकर ग्रुपो में ओवर लपिंग करते पाए जाते है।