माचना पुनर्जीवन अभियान- माचना की सहायक नदी सांपना में बैतूल बाजार में बनेंगे दो स्टॉप डेम

Scn news india

 

अल्केश साहू ब्यूरो 
माचना पुनर्जीवन अभियान-
माचना की सहायक नदी सांपना में बैतूल बाजार में बनेंगे दो स्टॉप डेम
सिरपुर पैटर्न पर होगा नदी का गहरीकरण
ग्राम सभा के पूर्व श्रमदानियों ने की नदी की स्वच्छता

बैतूल-नदी पुनर्जीवन अभियान के बढ़ते हुए कदम शनिवार को बैतूल बाजार पहुंचे। बैतूल बाजार नगर धार्मिक नगरी के रूप में अपनी पहचान रखता है। जहां ऐतिहासिक स्थल के रूप में सैंकड़ो वर्ष पुरानी जल संरचना (बावड़ी) आज भी जीवित है। बैतूल बाजार नगर के भवानी वार्ड मोक्ष धाम महाकाल स्टेट मंदिर पर जो कि, सापना नदी के तट पर स्थित है। वर्तमान में नगर का सबसे मनोरम स्थल भी है। नदी पुनर्जीवन की ग्रामसभा आयोजित की गई, जिसमें बड़ी संख्या में नगर की रचनात्मक गतिविधियों में सक्रिय रहने वाले युवाओं की उपस्थिति दर्ज की गई। युवाओं को कार्य योजना समझाते हुए अभियान के प्रभारी सहायक कलेक्टर श्री अंशुमन राज गंगा जी के तटों पर चल रहे कार्यों एवं बैतूल की जीवन रेखा मानी जाने वाली माचना नदी पर कैसे कार्य योजना बनाकर संचालित की जा रही है, युवाओं को इससे अवगत कराया। इस परियोजना के दीर्घकालिक परिणाम भी सभी के समक्ष रखें। पर्यावरण के क्षेत्र में लगातार अपनी सेवाएं दे रहे श्री मोहन नागर ने उपस्थित युवाओं को भविष्य में आने वाले जल संकट के के बारे में ध्यानाकर्षण किया। उन्होंने बताया कि कैसे छोटी-छोटी संरचनाओं के माध्यम से किसी नदी को पुनर्जीवित किया जा सकता है। जिस प्रकार भगीरथ मां गंगा को धरती पर लाए थे परंतु उसमें उनकी कई पीढिय़ों का तप एवं श्रम शामिल था। उसी प्रकार नदियों को संरक्षित पुनर्जीवित करने की यह प्रक्रिया आने वाली पीढिय़ों को भी हमें सौंपनी होगी, तब भविष्य में यह नदियां सदानीरा हो जाएगी।


गायत्री परिवार के जिला समन्वयक डॉ. कैलाश वर्मा ने वृक्ष गंगा अभियान पर प्रकाश डालते हुए युवाओं को जल संरक्षण हेतु प्रेरित किया। पर्यावरण प्रभारी श्री अमोल पानकर ने नदी पुनर्जीवन पर आधारित वृत्त सभी के समक्ष रखा। श्री संजय वर्मा एवं नगर पंचायत प्रधान श्री सुधाकर पंवार ने नदी पर आगामी संभावनाओं को व्यक्त किया। जन अभियान परिषद की टीम ब्लॉक समन्वयक सुश्री सरिता पाठक, समाज सेविका सुश्री तूलिका पचौरी, श्री आशीष पचौरी, श्री सुनील पंवार ने नदी संरक्षण हेतु आवश्यक सुझाव प्रस्तुत किए। श्री सुनील पंवार द्वारा ग्राम जगदर के पाठा नाले पर स्टॉप डेम का सुझाव दिया एवं धोबी घाट का निरीक्षण किया, जहां बड़े स्टॉप डेम की संभावना है, जिसके लिए सहायक कलेक्टर ने उन्हें आश्वस्त किया। डॉ. भूपेंद्र राठौर ने प्रशासन से निवेदन किया कि इस अभियान के प्रति लोगों को अधिक जागरूक किया जाए। कृषक श्री नवनीत वर्मा ने वैश्विक षड्यंत्र जो कि हमारे देशी बीजों के साथ किया जा रहा है उसके प्रति ध्यान आकर्षित किया। कार्यक्रम का सफल संचालन श्री सुनील पंवार एवं आभार प्रदर्शन श्री आशीष कोकने द्वारा किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में युवा एवं ग्रामीणजन उपस्थित रहे।