अन अपेक्षित घटना के संबंध में लोको पायलट, असिस्टेंट लोको पायलट एवं गार्ड के साथ अवेयरनेस मीटिंग

Scn news india

दिलीप पाल 

आमला.वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त एवं सहायक सुरक्षा आयुक्त महोदय के आदेशानुसार आज दिनांक 27.8.2021 को रेल सुरक्षा बल निरीक्षक थाना आमला द्वारा स्टेशन मैनेजर आमला, मुख्य कर्मी दल नियंत्रक आमला, परिवहन निरीक्षक आमला, लोको निरीक्षक एवं जीआरपी इंस्पेक्टर आमला के साथ संयुक्त रुप से मीटिंग का आयोजन किया गया। जिसमें लोको पायलट एवं गार्ड को यह समझाइश दी गई की जब कभी अनपेक्षित घटनाएं होती है उस घटना की रिपोर्टिंग यथाशीघ्र वाकी-टाकी से संबंधित या अगले स्टेशन मास्टर को करें और सूचना को अपने डायरी/मेमो बुक में इंदिराज करें ताकि भविष्य में कभी भी जरूरत पड़ने पर बयान देते वक्त उसका उपयोग किया जा सके । साथ ही गार्ड्स को भी यह बताया गया है कि जब भी कोई ट्रेन से गिरने की घटना होती है उसको भी अपने बुक में लिखेंगे और इसकी सूचना तुरंत डिप्टी एसएस को देंगे ताकि वास्तविक घटना का पता कर अनपेक्षित घटना की सही तरीके से जांच की जा सके। सभी लोको पायलट सहायक लोको पायलट एवं गार्ड को यह आश्वासित किया गया है कि वह अपना बयान देते वक्त कभी भी घबराए नहीं और घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है, हम जो भी कार्य कर रहे हैं वह इसलिए कि हम रेलवे को अनावश्यक क्लेम से बचाने के लिए सहायक सिद्ध हो सके। अगर लोको पायलट सहायक लोको पायलट और गार्ड ने किसी व्यक्ति के इंजन के सामने आकर दुर्घटनाग्रस्त होने वाली घटना को रिपोर्टिंग किया तब वह या तो रन ओवर या आत्महत्या जैसे मामले होते हैं, इससे रेलवे को क्लेम देना नहीं पड़ेगा और हम रेलवे द्वारा अनावश्यक रूप से दिए जा रहे क्लेम से बच सकेंगे।
‌ मीटिंग में उपस्थित रेल सुरक्षा बल मामला थाना निरीक्षक राकेश बनकर, स्टेशन मैनेजर वीरेंद्र पालीवाल, मुख्य कर्मीदल निरीक्षक अशोक जैन, परिवहन निरीक्षक डी के साहू, जीआरपी इंस्पेक्टर प्रमोद पाटिल, लोको निरीक्षक व्हाई आर धोटे द्वारा उपस्थित सभी को होने वाली घटना को तुरंत अग्रिम स्टेशन पर सूचित करने बाबत बताया सभी गार्ड ड्राइवर ने भविष्य में अनपेक्षित घटना के बाबत सूचित करने बाबत आश्वासित किया। साथ ही इन कर्मचारियों के लिए शंका-आशंका सेशन को भी रखा गया जिसमें उनकी शंका-आशंकाओं का समाधान भी किया गया।
साथ ही इस संगोष्ठी में लोको पायलट एवं गार्ड्स से अपनी ड्यूटी के दौरान सभी संरक्षा नियमों का कड़ाई से पालन करने हेतु भी कहा गया , ताकि किसी भी प्रकार की कोई दुर्घटना होने की संभावना ना बने।