27 अगस्त को चांदू क्लस्टर में आयोजित होगा ग्राम संवाद ग्रामीण क्षेत्र की मूलभूत समस्याओं एवं शिकायतों का किया जाएगा निराकरण

Scn news india

अल्केश साहू ब्यूरों 
बैतूल-कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस द्वारा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में मूलभूत समस्याओं के निराकरण, व्यक्तिगत शिकायतों/समस्याओं के निराकरण तथा हितग्राहीमूलक योजनाओं के धरातल पर क्रियान्वयन की स्थिति की समीक्षा के उद्देश्य से ग्राम संवाद कार्यक्रम संचालित किया गया है। यह कार्यक्रम 27 अगस्त को भीमपुर विकासखंड के चांदू क्लस्टर में आयोजित होगा। इसके लिए चांदू क्लस्टर की ग्राम पंचायत चांदू, चूना लोहमा, धामन्या, डोक्या, जमन्या, नांदा, पलस्या, रंभा, रातामाटी, सिमोरी एवं बासिंदा ग्राम पंचायत का चयन किया गया है।
ग्राम संवाद कार्यक्रम अंतर्गत नियुक्त सेक्टर अधिकारियों द्वारा चयनित ग्राम पंचायतों के ग्रामों में पूर्वान्ह 10 बजे से 11 बजे तक ग्रामीणों से संवाद, ग्रामीणों एवं उपस्थित ग्राम पंचायत स्तरीय अमले के साथ ग्राम में भ्रमण किया जाएगा तथा ग्रामीणों की अपेक्षा एवं शिकायतों का संकलन किया जाएगा। इस दौरान समस्त मूलभूत सुविधा केन्द्र जैसे ग्राम पंचायत भवन, आंगनबाड़ी भवन, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, शाला भवन इत्यादि के संचालन की स्थिति की जानकारी भी ली जाएगी।
दोपहर 11 बजे से अपरान्ह 2 के बीच आयोजित ग्राम सभा एवं ग्राम संवाद के दौरान प्राप्त शिकायतों एवं अपेक्षाओं का यथासंभव मौके पर ही निराकरण सुनिश्चित किया जाएगा। साथ ही निर्धारित चेक लिस्ट अनुसार विभागवार एवं योजनावार स्थिति की समीक्षा भी की जाएगी। ग्राम संवाद की कार्रवाई के संबंध में सेक्टर अधिकारी अपने सुझाव भी प्रस्तुत कर सकेंगे।
अपरान्ह 4 बजे क्लस्टर मुख्यालय चांदू में कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह एवं सीईओ जिला पंचायत दिन भर किए गए कार्यों की समीक्षा करेंगे एवं प्रत्येक ग्राम पंचायत के सचिव एवं प्रधान की बैठक भी लेंगे।
उक्त बैठक के पूर्व सेक्टर अधिकारियों द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के भ्रमण के दौरान प्राप्त शिकायतों/समस्याओं की जानकारी की रिपोर्ट सीईओ जनपद पंचायत को प्रस्तुत की जाएगी।  सीईओ जनपद इन समस्त शिकायतों/अपेक्षाओं की विभागवार प्रविष्टि गूगल शीट में दर्ज करेंगे। कलेक्टर द्वारा दर्ज शिकायतों/समस्याओं की स्थिति की समीक्षा की जाएगी एवं जो शिकायतें/समस्याएं निराकरण के लिए शेष हैं, उनके निराकरण की प्रभावी कार्रवाई की जाएगी। ग्राम सभा स्थल एवं क्लस्टर मुख्यालय की बैठक में कोविड गाइड लाइन एवं कोविड प्रोटोकॉल का अनिवार्यत: पालन सुनिश्चित करना होगा।
ग्राम संवाद के दौरान क्लस्टर मुख्यालय चांदू में जिला स्तरीय अधिकारियों, ग्राम पंचायतों के प्रधान, जनपद स्तर के समस्त विभाग के मैदानी अधिकारियों, ग्राम पंचायत स्तरीय कर्मचारियों की बैठक भी आयोजित की जाएगी। उक्त बैठक में जीआरएस, पटवारी, आशा/आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, एएनएम एवं अन्य समस्त ग्राम पंचायत स्तरीय कर्मचारी भी अनिवार्य रूप से उपस्थित रहेंगे।
कलेक्टर अपने भ्रमण के दौरान क्षेत्र के विकास कार्यों एवं योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति का भी निरीक्षण करेंगे।

ग्राम संवाद के दौरान निरीक्षण के बिन्दू
——————————————-

ग्राम संवाद के दौरान जिन विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन का निरीक्षण किया जाएगा उनमें मनरेगा अंतर्गत कार्यों की स्थिति, लेबर बजट की स्थिति, जॉब कार्डधारियों को मांग अनुसार काम मिल रहा है या नहीं, लंबित तकनीकी स्वीकृति/प्रशासकीय स्वीकृति की स्थिति एवं मनरेगा के तहत पौधरोपण एवं जल संरक्षण के कार्यों की स्थिति का निरीक्षण किया जाएगा।
इसी तरह प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजनांतर्गत लक्ष्य, स्वीकृति, पूर्ण/अपूर्ण/अप्रारंभ एवं आवास की गुणवत्ता का निरीक्षण किया जाएगा।
स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत पात्र/स्वीकृत/पूर्ण/प्रगतिरत/स्वीकृत से शेष शौचालयों की स्थिति, ग्राम में कूड़ा/कचरा निपटान एवं नाडेप निर्माण की स्थिति एवं ग्राम में प्लास्टिक अपशिष्ट के निपटान की स्थिति का निरीक्षण किया जाएगा।
एनआरएलएम अंतर्गत गठित स्व सहायता समूह, संचालित गतिविधियों का विवरण, उत्पादित माल की मार्केटिंग आदि की स्थिति की जानकारी ली जाएगी।
पेंशन योजनांतर्गत वृद्धावस्था/विधवा/निशक्त/सामाजिक सुरक्षा इत्यादि समस्त पेंशन योजना तथा राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना में पात्र/स्वीकृत/लंबित स्थिति की समीक्षा की जाएगी।
इसी तरह ग्राम में दुकान निर्धारित समय पर खुल रही है अथवा नहीं, पात्र हितग्राहियों को निर्धारित मात्रा में अनाज का वितरण हो रहा है अथवा नहीं एवं वितरण किए जा रहे राशन की गुणवत्ता की स्थिति का निरीक्षण किया जाएगा।
खाद एवं बीज वितरण की स्थिति एवं मांग के अनुसार खाद एवं बीज उपलब्ध है या नहीं, की स्थिति की जानकारी ली जाएगी।
ग्राम में आंगनबाड़ी नियमित रूप से समय पर संचालित हो रही है अथवा नहीं, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/सहायिका की नियमित उपस्थिति, पोषण आहार के वितरण की स्थिति, बच्चों एवं गर्भवती माताओं के टीकाकरण की स्थिति की जानकारी ली जाएगी। साथ ही संबल योजनांतर्गत अनुग्रह/अंत्येष्टि योजना में पात्र हितग्राहियों को लाभांवित किए जाने की स्थिति की जानकारी ली जाएगी।
ग्राम में कोविड टीकाकरण की स्थिति, एएनएम/आशा कार्यकर्ता की नियमित उपस्थिति की स्थिति, कोविड प्रोटोकॉल के पालन की स्थिति एवं पात्र हितग्राहियों के आयुष्मान कार्ड तैयार करने की प्रगति की जानकारी ली जाएगी।
शिक्षकों की नियमित उपस्थिति की स्थिति एवं ऑनलाइन अध्ययन की स्थिति का निरीक्षण किया जाएगा। ग्राम में हैंडपंप (चालू/बंद) की स्थिति एवं ग्राम में नल-जल योजनाओं की स्थिति की जानकारी ली जाएगी। साथ ही विद्युत देयक, ट्रांसफार्मर आदि की समस्याओं की जानकारी ली जाएगी।
अविवादित नामांतरण/बंटवारे की स्थिति, पटवारी की हल्के में नियमित उपस्थिति की स्थिति, सचिव की मृत्यु पंजी से मिलान कर फौती नामांतरण की स्थिति की समीक्षा की जाएगी।
सांसद/विधायक निधि से स्वीकृत कार्य/अपूर्ण एवं प्रगतिरत कार्यों की स्थिति के साथ ही अन्य मौके पर पाई गई समस्याओं, ग्रामीणों की मांग आदि की स्थिति की भी जानकारी ली जाएगी।