दोषियों को छोड़ निर्दोष को लोगों फंसाने का चल रहा है खेल – छत्तीसगढ़ बना एफआईआर गढ़ – JCCJ

Scn news india

हेमंत वर्मा 

अपराध शास्त्र का सुस्थापित सिद्धांत भले ही 100 में से 100 दोषी छूट जाए पर 1 भी निर्दोष को सजा नहीं होनी चाहिए” के सिद्धांत के विरुद्ध कबीरधाम पुलिस ने किया कारनामा।

निर्दोष जोगी कांग्रेसियों के विरुद्ध एफआईआर , अनुच्छेद 21 का उल्लंघन, संविधान में संरक्षित प्राण एवं दैहिक स्वतंत्रता का हनन।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे ने सौंपा राज्यपाल को ज्ञापन

मामला – कवर्धा जिला के अंतर्गत सड़क निर्माण में 1 करोड़, 19 लाख 90 हजार 600 रुपया के भ्रष्टाचार के विरुद्ध लोकतांत्रिक तरीके से प्रदर्शन कर रहे तरह जोगी कांग्रेसियों पर झूठा एफआईआर करने का।

दिनांक 23/8/ 2021

डोंगरगढ़ – छत्तीसगढ़ राज्य की एकमात्र मान्यता प्राप्त क्षेत्रीय राजनीतिक दल जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष माननीय श्री अमित जोगी जी के निर्देशानुसार , जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के जिला अध्यक्ष श्री विष्णु लोधी के नेतृत्व में जोगी कांग्रेसियों ने अनुविभागीय राजस्व पहुंचकर कबीरधाम पुलिस के द्वारा जोगी कांग्रेसियों के विरुद्ध की गई झूठे एफ आई आर के विरुद्ध महामहिम राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपकर मामले की न्यायिक जांच की मांग की।

इस दौरान जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के जिला अध्यक्ष विष्णु लोधी ने कहा जोगी काँग्रेस राज्य भर में सरकार के जनविरोधी नीतियों, दोषपूर्ण कार्यप्रणाली और भ्रष्टाचार का विरोध लगातार प्रदेश में लोकतांत्रिक तरीके से करते आ रही है। इसी कड़ी में कवर्धा जिले के पंडरिया कुकदूर बजाग रोड निर्माण नाम पर ₹ 1 करोड़ 19 लाख 90 हजार 600 रुपए भ्रष्टाचार किया गया है जिसको लेकर कवर्धा जिले के जोगी कांग्रेसियों के द्वारा भ्रष्ट अधिकारियों के विरुद्ध एफआईआर करने लिखित शिकायत लेकर लोकतांत्रिक तरीके से अधिकारियों शांति पुर्वक प्रदर्शन किए है। जिसके बाद अधिकारियों के द्वारा खुद एफआईआर से बचने के लिए अपने राजनीतिक पहुँच के दम पर कबीरधाम पुलिस से मिलीभगत करते हुए दिनांक 13 अगस्त को पुलिस के द्वारा 9 जोगी जोगी काँग्रेसी जिसमें प्रमुख रूप से रवि चन्द्रवंशी, धीरज सिंह, अश्वनी यदु, चेतन वर्मा, केवल चन्द्रवंशी, रंजीत वर्मा, मुकेश चंद्राकर, आशीष ठाकुर, गणेश पात्रे एवं अन्य के विरुद्ध धारा 147, 186, 506 भादवि एवं धारा 3-1 (एस), अनुसूचित जाति/जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम 1989 के अंतर्गत मामला दर्ज कर दिया गया है जो कि सरासर झूठा एवं फर्जी है।

विष्णु लोधी ने कहा जोगी कांग्रेसियों ने प्रदर्शन के दौरान किसी भी प्रकार का कोई कानून को हाथ में नहीं लिया है ना ही कोई अपराध किया है बल्कि जिले में चल रहे करोड़ो रुपया के भ्रष्टाचार को उजागर के लिए उन्होंने शान्ति पूर्वक अपनी बात रखे हैं। अधिकारियों के द्वारा अपने दामन में लगे दाग को मिटाने और भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत एफआईआर से बचने के लिए जोगी कांग्रेसियों पर झूठा मामला बनाकर वास्तविक अपराधियों के लिए बने कानून की धाराओं का दुरुपयोग किया जाकर जोगी कांग्रेसियों को झूठे मामले में फंसाया गया है।

विष्णु लोधी यह भी कहा घटना दिनांक को जोगी कांग्रेसियों के साथ जनता कांग्रेसी नेता श्री गणेश पात्रे भी प्रदर्शन में शामिल थे जो स्वयं अनुसूचित जाति वर्ग के है परंतु कबीरधाम पुलिस के द्वारा विधि विरुद्ध श्री गणेश पात्रे के विरुद्ध भी अनुसूचित जाति/जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम 1989 का अपराध दर्ज कर दिया है जो कि देश में संभवत यह पहला मामला है कि जिस जाति समुदाय के लिए कानून बनाया गया है उसी जाति समुदाय के विरुद्ध ही मामला दर्ज कर दिया गया है।

विष्णु लोधी ने कहा है कि उपरोक्त एफआईआर से स्पष्ट दर्शित होता है कि मौजूदा कांग्रेस के सरकार के द्वारा राज्य में गरीब,मजदूर, किसान, महिलाएं, आम जनता और छत्तीसगढ़ राज्य के विकास के लिए काम नहीं कर रही है, ना ही बदलाव की राजनीति कर रही है बल्कि बदला लेने की मंशा के साथ दुर्भावनापूर्वक जनता की आवाज को, विपक्ष की आवाज को दबाने का काम किया जा रहा है छत्तीसगढ़ को एफआईआर गढ़ बनाते हुए दोषियों को छोड़ निर्दोष लोगों को फंसाने का खेल चल रहा और लोकतंत्र की हत्या की जा रही है जिसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है।
आज के कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पार्टी के जिलाध्यक्ष विष्णु लोधी, कोर कमेटी के सदस्य नवीन अग्रवाल, कोषाध्यक्ष भगवती वर्मा, शेख जफर अली,शहर अध्यक्ष शुभम् चकोले, पारस टांडेकर, विश्राम वर्मा,प्रकाश डहरे,अविनाश साहू, विक्रम नेताम,महेश डिंडोर, अंतु इंदुलकर, सोनू गुप्ता, मनसू निहाल, योगेंद्र देवांगन, मनीष साहू, शुभम गौरआदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।