मौसम -राजस्थान की तरफ खिसका सिस्टम, उज्जैन संभाग के जिलाें में बौछारें पड़ने के आसार

Scn news india
मनोहर
मध्यप्रदेश में बना हवा के ऊपरी भाग में बना चक्रवात वर्तमान में खिसककर उत्तर-पूर्वी राजस्थान पर चला गया है। इस सिस्टम के राजस्थान पर चले जाने से अब मप्र में कहीं भी भारी बारिश हाेने की संभावना नहीं है। हालांकि मानसून ट्रफ अभी भी सीधी, शिवपुरी से हाेकर गुजर रहा है। साथ ही वातावरण में नमी मौजूद है। इस वजह से कहीं-कहीं रूक-रूककर बौछारें पड़ने का सिलसिला अभी बना रहेगा। मौसम विज्ञानियाें के मुताबिक रविवार काे उत्तर-पूर्वी राजस्थान से लगे मप्र के उज्जैन संभाग के जिलाें में विशेषकर नीमच, मंदसौर में तेज बौछारें पड़ सकती हैं। साेमवार से बारिश की गतिविधियाें में और कमी आने की संभावना है।
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटाें के दौरान रविवार सुबह साढ़े आठ बजे तक खंडवा में 71, ग्वालियर में 25.6, भाेपाल में 15.2, बैतूल में 13, रतलाम में नौ, रीवा में 8.6, सीधी में चार, गुना में चार, खजुराहाे में 3.2, इंदौर में 2.9, सिवनी में 2.6, मलाजखंड में 2.3, छिंदवाड़ा में 2.2, धार में 2, खरगाेन में 1.2, सतना में 1.2, पचमढ़ी में 1, शाजापुर में 0.5, उज्जैन में 0.4 मिलीमीटर बारिश हुई।
 शनिवार काे मप्र के उत्तर-पश्चिम क्षेत्र पर हवा के ऊपरी भाग में बना चक्रवात वर्तमान में उत्तर-पूर्वी राजस्थान पर चला गया है। मानसून ट्रफ रीवा, शिवपुरी से हाेकर गुजर रही है। प्रदेश में किसी प्रभावी वेदर सिस्टम के सक्रिय नहीं रहने से अब भारी बारिश की संभावना कम ही है। हालांकि वातावरण में बड़े पैमाने पर नमी मौजूद रहने के कारण बीच-बीच में बौछारें पड़ सकती हैं। रविवार काे राजस्थान के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र से लगे मप्र के जिलाें में कहीं-कहीं तेज बौछारें पड़ सकती है। शेष जिलाें में मौसम धीरे-धीरे साफ हाेने लगेगा। धूप निकलने के कारण अधिकतम तापमान में बढ़ाेतरी हाेने लगेगी।