रेत ठेकेदार के कार्यालयों और गिरी गाज, सेंट्रल जीएसटी की इंटेलीजेंस टीम ने मारा छापा

Scn news india

रोहित नैय्यर ब्यूरों  जबलपुर 

जबलपुर में सेंट्रल जीएसटी की इंटेलीजेंस टीम ने टैक्स चोरी के मामले में रेत ठेकेदार के कार्यालयों पर छापा मारा,टीम ने राइटटाउन और शताब्दीपुरम स्थित कार्यालयों में लेनदेन से जुड़े दस्तावेजों की जांच की,इस दौरान जांच टीम ने दोनों कार्यालयों से कम्प्यूटर हार्ड डिस्क सहित कई दस्तावेज जब्त किए हैं,जीएसटी सूत्रों के मुताबिक जांच में एक से दो करोड़ की टैक्स चोरी की बात सामने आई है,दरअसल सेंट्रल जीएसटी इंटेलीजेंस टीम को रेत का कारोबार करने वाले आराध्य ग्रुप के खिलाफ टैक्स चोरी की शिकायत मिली थी,जिसके बाद देर रात जीएसटी की टीम ने आराध्य ग्रुप के दफ्तरों पर दबिश दी,टीम ने आराध्य ग्रुप के कार्यालय से कम्प्यूटर और हार्ड डिस्क सहित दस्तावेज कब्जे में लिए हैं,

जिसका ऑनलाइन मिलान किया जा रहा है,बताया जा रहा है कि रेत कारोबार से जुड़े आराध्य ग्रुप के संचालकों ने बीते मार्च तक रेत रॉयल्टी पर 18 प्रतिशत जीएसटी चुकाई,लेकिन अप्रैल से इसे 5 प्रतिशत कर दिया, जिसके कारण 13 प्रतिशत कम जीएसटी जमा की,इस 13 फीसदी की दर से जीएसटी की करीब दो करोड़ रुपए की चोरी की गई है,दरअसल आराध्या ग्रुप को जबलपुर जिले में 40 से अधिक खदानें पांच सालों के लिए ठेके पर मिली हैं,इन खदानों के एवज में आराध्य ग्रुप ने 33 करोड़ रुपए सरकार को दिए थे,हालांकि इंटेलीजेंस की टीम ने 13 फीसदी जीएसटी की चोरी की गई राशि को आराध्य ग्रुप को चुकाने का फरमान सुनाया है।