विदेशी शराब दुकान से देशी मदिरा और देशी मदिरा,गांव-गांव खुली अवैध शराब की दुकानें

Scn news india

।वामन पोटे।

बैतूल -आदिवासी ब्लाक चिचोली और भीमपूर में संघ सत्ता और संगठन के सानिध्य में शराब ठेकेदार गांव ,गांव और गली गली में अंग्रेजी और देशी शराब बेच रहा है वही आबकारी और पुलिस की साठगांठ से अंग्रेजी शराब की दुकान से देशी शराब और देशी शराब की दुकान से अंग्रेजी शराब की खुले आम बिक्री की जा रही है।वही बैतूल इंदौर हाइवे पर बने ढाबे होटल और ठेलों पर खुले आम अंग्रेजी और देशी शराब की बिक्री की जा रही है ।सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार भडूस की देशी शराब दुकान से ही अंग्रेजी शराब बेची जा रही है वही खेड़ीसांवलीगढ़ की अंग्रेजी शराब की दुकान से धड़ल्ले से देशी शराब बेची जा रही है ।वही चिचोली में भी अंग्रेजी शराब दुकान से देशी मदिरा और देशी शराब दुकान से विदेशी शराब बेची जा रही है ।भीमपूर कि विदेशी शराब दुकान से बड़े पैमाने पर देशी मदिरा बेची जा रही है ।

अंग्रेजी और देशी शराब का ठेका लेने वाले ठेकेदार ने गांव-गांव अपनी अवैध दुकानें खुलवा दी है। यहां पर शराब अब बे रोक टोक बिक रही है जगह जगह धड़ल्ले से शराब बिक्री से जिसका नतीजा यह निकल रहा है कि लोग जमकर नशा कर रहे हैं, जिससे कई परिवार टूट रहे हैं तो वहीं वाहन दुर्घटनाओं में वृद्धि हो रही है। यह जानकारी होने के बाद भी आबकारी विभाग द्वारा अवैध रूप से शराब का कारोबार करने वाले ठेकेदार के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।
आबकारी ठेकेदारों ने देशी एवं अंग्रेजी शराब बेचने के ठेके लिए है। ठेका शहरी क्षेत्र के अंदर ही शराब बेचने का होता है, जिसकी शर्तें आबकारी विभाग एग्रीमेंट करके लागू करता है। ठीक इसी तरह भडूस, खेड़ीसावलीगढ़, चिचोली और भीमपूर के अंदर ही शराब बिक्री करने का प्रावधान रखा गया है। सीमा के बाहर नहीं और वो भी एक स्थान से यानी की दुकान से ही शराब की बिक्री होगी।परन्तु शराब ठेकेदार द्वारा नियमो का पालन नही किया जा रहा है और गांव गांव गली गली विदेशी और देशी शराब की बिक्री की जा रही है।
शराब के यह हैं दुष्परिणाम : गांव गांव शराब बिक्री से आए दिन होने वाली वाहन दुर्घटनाएं यह साबित कर रही है ज्यादातर वाहन चालक नशे की हालत में मिले है।