किस्मत के बदले अस्मत , प्रोफेसर गिरफ्तार

Scn news india

रोहित नैय्यर ब्यूरो जबलपुर 

किस्मत के बदले अस्मत मामले में बदनाम हुए रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में इसी तरह का एक और मामला सामने आया है। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय से पीएचडी कर रही एक छात्रा के साथ बायो साइंस विभाग के एक प्रोफेसर ने दुष्कर्म किया। 39 वर्षीय रिसर्च स्कॉलर की रिपोर्ट पर बेलबाग पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी प्रोफेसर को गिरफ्तार कर लिया है। अपनी शिकायत में पीड़ित छात्रा ने आरोप लगाया है कि पीएचडी में फेल कर देने की धमकी देकर आरोपी प्रोफेसर पिछले 6 माह से उसके साथ लगातार दुष्कर्म करता आ रहा है।

पीएचडी में फेल कर देने की धमकी देकर रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर के द्वारा रिसर्च स्कॉलर के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आने से विश्वविद्यालय परिसर में हड़कंप मचा हुआ है। बायोसाइंस विभाग की एक रिसर्च स्कॉलर ने बेलबाग थाने में शिकायत देकर आरोप लगाया है कि बायो साइंस विभाग के प्रोफेसर रवि प्रकाश मिश्रा पिछले 6 माह से लगातार उसका दैहिक शोषण कर रहे हैं। विरोध करने पर वह पीएचडी में फेल करने की धमकी दे देता है। दरअसल डिंडोरी की रहने वाली 39 वर्षीय पीएचडी छात्रा बेलबाग इलाके में किराए के मकान में रहती है। थाने में दी गई शिकायत में पीड़ित छात्रा ने कहा है कि आरोपी प्रोफेसर उसे शारीरिक संबंध बनाने के लिए लगातार मजबूर करता रहा है और उसके मना करने पर प्रोफेसर ने पिछले दिनों उसका लैपटॉप भी तोड़ दिया था। रिसर्च स्कॉलर की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी बायो साइंस विभाग के प्रोफेसर रवि प्रकाश मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया है।

 

जानकारी के मुताबिक बायो साइंस विभाग के प्रोफेसर रवि प्रकाश मिश्रा की हरकतों से परेशान होकर रिसर्च स्कॉलर ने इसके पहले भी पुलिस में शिकायत दी थी लेकिन तब आरोपी प्रोफेसर के माफी मांगने पर पीड़िता ने अपनी शिकायत वापस ले ली थी लेकिन उसकी हरकतों पर जब लगाम नहीं लगी तो छात्रा को मजबूर होकर पुलिस की शरण लेनी पड़ी। छात्रा डिंडोरी से आकर जबलपुर में रहती है और वह बायो साइंस विभाग के ही आरोपी प्रोफेसर रवि प्रकाश मिश्रा के अधीन पीएचडी कर रही थी, लिहाजा इसी का फायदा उठाते हुए आरोपी प्रोफेसर उस पर बुरी नजर रखता था और पिछले 6 माह से पीएचडी में फेल कर देने की धमकी देकर उसका शारीरिक शोषण करता रहा।