ग्रीन टाइगर्स ने मनाया हरियाली महोत्सव

Scn news india

विपुल राठौर की रिपोर्ट

हरियाली अमावस्या पर हरे बागों  ( #ग्रीन_टाइगर्स ) का हरियाली महोत्सव ।
शांति धाम बनेगा फलो का बागान बेतूल मुख्यालय से 17 किमी दूर ग्राम सरंडईवासियो ने  आदिश्वर सेवा समिति के सानिध्य में 251फलदार पौधों (आम , ईमली , जामुन , जाम , अनार , पपीता , सीताफल , कटहल , नीबू आदि ) का रोपण किया । सम्पूर्ण पौधारोपण कार्यक्रम में सबसे खास बात रही कि पंचायत के साथ स्थानीय ग्राम वासियो ने इन पोधो के पालन पोषण का संकल्प भी लिया । आज से ही तार फेंसिंग दुरुस्तीकरण , पौधों पर खाद-मिट्टी का चढ़ाव , किमचियो का सपोर्ट देने जैसे जरूरी कार्य प्रारंभ हुए साथ ही जानवरो से पौधों का बचाव , गर्मी के दिनों में पौधों को पानी देने की योजनाओ ओर चर्चा की गई ।

ग्रीन टाइगर्स बैतूल
हरियाली अमावस्या,नाम से ही स्पष्ट है कि वह दिन जो हरियाली को समर्पित है,हरियाली के आगमन के रूप में जिसे मनाया जाता है। इस दिन किसान आने वाले वर्ष में कृषि के विकास का अनुमान लगाते हैं, शगुन करते हैं,उपाय आजमाते हैं। सावन की फुहार और बहार के साथ हरे भरे पर्यावरण का स्वागत किया जाता है।

सावन महीने की कृष्ण पक्ष की अमावस्या को हरियाली अमावस्या कहा जाता हैं। इस अमावस्या का संबंध प्रकृति, पितृ और भगवान शंकर से है। तीनों लोक से संबंध होने के कारण इस अमावस्या का अपना विशेष महत्व है।

अतः पर्यावरण को संतुलित और शुद्ध बनाए रखने के उद्देश्य से ही अनेक वर्षों से हरियाली अमावस्या का पर्व खूब धूम-धाम से मनाया जाता है। इसका मुख्य लक्ष्य प्रदूषण को समाप्त कर पेड़ की संख्या में अधिक से अधिक वृद्धि करना है। यदि इस दिन कोई भी व्यक्ति एक भी पौधा रोपित करता है, तो उसे पुण्य की प्राप्ति होती है और वह जीवन भर समृद्ध बना रहता है।