ब्लॉक कांग्रेस कमेटी बिछिया ने किया बिजली ऑफिस का घेराव किया प्रदर्शन

Scn news india

दिलीप पाल 

मंडला – मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देशन में प्रदेश में बिजली की समस्या को लेकर, बिजली विभाग द्वारा की जा रही गड़बड़ियों एवं बिजली विभाग की लूट, मध्यप्रदेश सरकार द्वारा पिछले 17 महीनों में बिजली की दरों में अप्रत्याशित बढ़ोतरी की गई है जिसके कारण प्रदेश के करोड़ों बिजली उपभोक्ताओं पर प्रतिमाह आर्थिक बोझ बढ़ता जा रहा है। कांग्रेस की सरकार ने प्रदेश में इंदिरा ग्रह ज्योति योजना लागू की थी जिसे वर्तमान प्रदेश सरकार ने बंद कर दिया है जिसके कारण जिन उपभोक्ताओं की बिजली बिल कुछ ₹100 आते थे उनके बिजली बिल हजारों रुपया में आ रहे हैं। यह एक तरह से जनता से सीधी लूट है जो बिजली के नाम पर की जा रही है। पिछले कुछ माह में उपभोक्ताओं के मीटरों की रीडिंग किए बिना एवं गलत रीडिंग करके विभाग द्वारा अनाप-शनाप राशि के बिजली बिल भेजे गए जिसकी वसूली भी उपभोक्ताओं से की जा रही है।

पूर्व में इस तरह के बिलों की सुधार के लिए कांग्रेस ने प्रदेशभर में 1210 जनभागीदारी समितियां गठित की थी जिनके माध्यम से इस तरह के गलत बिलों का सुधार किया जाता था वर्तमान सरकार ने यह व्यवस्था पूरी तरीके से बंद कर दी है जिसके कारण उपभोक्ता ना चाहते हुए भी कनेक्शन कटने के डर से गढ़वा बिलों का भी भुगतान करने को मजबूर हो रहे हैं। वर्तमान में प्रदेश की सरकार इलेक्ट्रिसिटी एक्ट की धारा 135/138 का अत्यधिक इस्तेमाल करके गरीब उपभोक्ताओं व किसानों के घरेलू सामान वाहन इत्यादि की लगातार कुर्की की जा रही है।

जिससे किसान एवं गरीब वर्ग के व्यक्ति आत्महत्या करने को मजबूर हैं। प्रदेश में बिजली की लाइनों ट्रांसफार्मर सब स्टेशनों इत्यादि के रखरखाव के नाम पर 6 से 8 घंटे बिजली बंद रखने के बाद भी ट्रिपिंग संख्या बढ़ती है जिससे बिजली का बिल अत्यधिक आता है। यह प्रत्यक्ष रुप से बिजली विभाग की लूट है। इन सब मांगो को लेकर काग्रेस पार्टी के समस्त मोर्चा संगठन के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने बिजली विभाग का घेराव करते हुए धरना दिया एवं 10 सूत्री मांगों को लेकर कार्यपालन अभियंता विद्युत विभाग बिछिया को राज्यपाल महोदय के नाम ज्ञापन सौंपा गया।