ऑनलाईन खाद विक्रय का निगम को मिल रहा अच्छा प्रतिसात

Scn news india

हेमंत वर्मा 

  • ऑनलाईन खाद विक्रय का निगम को मिल रहा अच्छा प्रतिसात
  • एमेजान ई-कामर्स कम्पनी के माध्यम से राजनांदगांव, छत्तीसगढ सहित अन्य प्रदेशों में खाद विक्रय
  • महापौर ने किया आज एमेजान कम्पनी को नवी मुुंबई, वाराणसी व उत्तराखण्ड भेजने वर्मी खाद हस्तांतरित

राजनांदगांव 5 अगस्त। छत्तीसगढ़ शासन की महती योजना गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन के तहत नगर निगम राजनांदगांव द्वारा 4 गौठान केन्द्र नवागांव, रेवाडीह, मोहारा एवं लखोली में गोबर खरीदी कर वर्मी खाद का निर्माण किया जा रहा है। वर्मी कम्पोस्ट का लाभ नागरिकों को दिये जाने हाट बाजार में वर्मी कम्पोस्ट बिक्री केन्द्र खोला गया है और घर बैठे ऑनलाईन के माध्यम से खाद खरीदने ई-कामर्स कम्पनी एमेजान से खाद विक्रय करने की पहल राजनांदगांव नगर निगम द्वारा की गयी, जिसका अच्छा प्रतिसात मिल रहा है और राजनांदगांव के अलावा अन्य राज्यों के लोग भी एमेजान के माध्यम से ऑनलाईन वर्मी खाद क्रय करने आर्डर कर रहे है। इसी कडी मंे नवी मुंबई, वाराणसी एवं उत्तराखण्ड से ऑनलाईन आर्डर प्राप्त होने पर आज महापौर श्रीमती हेमा सुदेश देशमुख ने संबंधितो तक खाद पहुॅचाने प्रथम डिलवरी के तहत एमेजान कम्पनी के लोगों को 5-5 किलो वर्मी कम्पोस्ट हस्तांतरित किये।
महापौर श्रीमती हेमा देशमुख ने बताया कि छत्तीसगढ शासन द्वारा खेतीहर किसानों तथा पशु पालकों के हित में गोधन न्याय योजना प्रारंभ किया गया है। योजना के तहत 2 रूपये किलो की दर से सरकार द्वारा पशुपालकों से गोबर खरीदा जा रहा है। गोबर से महिला स्व सहायता समूहो के माध्यम से वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण किया जा रहा है। उक्त खाद के उपयोग से फसल के उत्पादन में वृद्धि होकर किसानों को फायदा हो रहा है और गोबर विक्रय करने से पशु मालिकों को भी आर्थिक लाभ मिल रहा है, साथ ही खाद बनाने से महिला स्व सहायता समूहो को भी रोजगार प्राप्त हो रहा है। उन्होने बताया कि नगर निगम राजनांदगांव द्वारा भी 04 गौठान केन्द्र नवागांव, रेवाडीह, मोहारा एवं लखोली में गोबर खरीदी कर वर्मी खाद के अलावा, गमला, दिया एवं गोबर की लकडी बनायी जा रही है। वर्मी कम्पोस्ट का लाभ नागरिकों को दिये जाने हाट बाजार में वर्मी कम्पोस्ट बिक्री केन्द्र भी प्रारंभ किया गया है। जहॉ न्यूनतम दर पर वर्मी कम्पोस्ट खाद का विक्रय किया जा रहा है। साथ ही डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण करने वाली स्वच्छता दीदीया भी घर घर जाकर वर्मी खाद का विक्रय कर रही है, जिससे नगर निगम को आय प्राप्त हो रही है।
महापौर श्रीमती देशुख ने बताया कि अब नगर निगम खाद बेचने में प्रगति करते हुये एमेजान एवं इंडिया मार्ट जैसी ई-कामर्स कम्पनी के माध्यम से खाद विक्रय करना प्रारंभ की है, जिसका अच्छा प्रतिसात मिल रहा है और राजनांदगांव छत्तीसगढ के साथ साथ अन्य प्रदेश के लोग भी एमेजान के माध्यम से ऑनलाईन आर्डर कर वर्मी कम्पोस्ट प्राप्त कर घर बैठे लाभ ले रहे है। इसी कडी में वाराणसी, नवी मुंबई एवं उत्तराखण्ड के लोग वर्मी कम्पोस्ट खाद क्रय करने एमेजान से आर्डर किये थे, जिसे आज एमेजान कम्पनी को डिलवरी हेतु वर्मी कम्पोस्ट खाद हस्तांतरित किया गया। जिसमें वाराणसी व उत्तराखण्ड के लिये 1-1 बैग एवं नवी मुंबई के लिये 02 बैग 5-5 किलो का दिया गया। ताकि उन्हंे घर बैठे शीघ्रता से खाद प्राप्त हो सके। उन्होंने बताया कि राजनांदगांव के लोग भी एमेजान के माध्यम से वर्मी खाद का ऑनलाईन आर्डर किये जिससे नगर निगम को अब तक 20 हजार रूपये की आय प्राप्त हुई है और आर्डर की कडी में आज कलकत्ता से भी एमेजान के माध्यम से वर्मी खाद के लिये आर्डर प्राप्त हुआ है। जिसे भी शीघ्र डिलवरी की जावेगी। उन्होंने बताया कि राजनांदगांव नगर निगम छत्तीसगढ़ की पहली सस्था है जो ऑनलाईन वर्मी खाद बेचने की प्रक्रिया प्रारंभ की है, ताकि लोगों को घर बैठे वर्मी खाद प्राप्त हो सके। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के प्रभारी सदस्य श्री गणेश पवार, गोधन न्याय योजना के सह प्रभारी व प्र.सहायक अभियंता श्री संदीप तिवारी, प्रोग्रामर श्री पंकज चंद्रवंशी सहित एमेजान कम्पनी के लोग उपस्थित थे।