एसडीएम आशीष पांडेय की सूझबूझ और समझदारी ने एक पिता और पुत्र के बीच दीवार खड़ी होने से बचाई

Scn news india

जबलपुर रोहित नैय्यर रिपोर्ट

खबर मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर से है जहां हर मां बाप की ख्वाहिश होती है कि हमारे बच्चे बुढ़ापे में हमारा सहारा बने और पूरा परिवार एक साथ खुशहाल जिंदगी बिताए लेकिन जब बेटा सम्पत्ति को लेकर खुद के बाप के सामने खड़ा होकर लड़ने पर उतारू हो जाये तो ऐसे में पूरा परिवार बिखर जाता है और परिवार की हस्ती खेलती जिंदगी तबाही की ओर बढ़ जाती है, ऐसा ही एक मामला जबलपुर के सिहोरा SDM न्यायालय में आया जहां पिता और पुत्र के बीच वर्षों से सम्पत्ति को लेकर विवाद चल रहा था लेकिन एसडीएम आशीष पांडेय की सूझबूझ और समझदारी ने एक पिता और पुत्र के बीच दीवार खड़ी होने से बचा लिया,दरअसल एसडीएम पांडेय ने मामले की सुनवाई के पहले पिता और पुत्र एवं पुत्रवधु को अलग अलग समय पर बुलाकर समझाया जिसका परिणाम ये हुआ कि पिता और पुत्र सहित पुत्रवधु के बीच के सारे गिले शिकवे दूर हो गए और पुत्र ने अपनी गलतियां मानते हुए पिता के पैर पड़ सारी शिकायतों को खत्म कर साथ रहने का वादा किया इतना ही नही एसडीएम ने अपने सामने पुत्र और पुत्रवधु से पिता का पैर धुलवाए और आशीर्वाद दिलाया जिसका मार्मिक वीडियो शोसल मीडिया पर भी वायरल हुआ।कहि न कही एसडीएम के इस सराहनीय निर्णय को सभी जगह सराहा जा रहा है जिसकी वजह से एक परिवार अलग अलग होने से बच गया।