नवविवाहिता की जहर के सेवन से मौत- हत्या या आत्महत्या ?

Scn news india

 

शारदा श्रीवास जिला ब्यूरो मंडला 

  • नैनपुर विकासखंड के ग्राम घतुरा निवासी युवती का विवाह केवलारी थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत डूंडा सिवनी में हुआ था
  • 24 वर्षीय नवविवाहिता की जहर के सेवन से हुई मौत
  • परिजनों ने ससुराल पक्ष पर जताई हत्या की आशंका
  • दहेज की मांग कर रहे थे ससुराल वाले
  • परिजनों ने कहा उच्च राजनैतिक संरक्षण प्राप्त है आरोपी
  • मामले को दबाने का किया जा रहा है प्रयास

मंडला -नैनपुर से 30 कि मी दूर सिवनी जिले के केवलारी थाना अंतर्गत ग्राम डूंडासिवनी का है जहां एक 24 वर्षीय किरार समाज की नवविवाहिता की जहर के सेवन से मौत हो गई।
घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार गत दिवस बुधवार की सुबह एक नवविवाहिता द्वारा जहरीली वस्तु का सेवन कर लिया गया, जिसके बाद परिजनों द्वारा महिला को जिला चिक्त्सिालय ले जाया गया, जहां उपस्थिति चिकित्सकों द्वारा महिला को मृत घोषित कर दिया गया, वहीं अचानक चिकित्सालय में इलाज हेतु गई मृतक महिला की माँ को जब इस घटना की जानकारी लगी तब उन्होंने हत्या की आशंका जताई, जिसके बाद न्यायिक मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में महिला के शव का पंचनामा कार्रवाई कर पोस्टमार्टम कराए जाने के उपरांत शव परिजनों को सौंप दिया गया। आपको बता दें कि मृतिका के परिजनों ने ससुराल पक्षों पर गंभीर आरोप लगाते हुये बताया है कि मृतका का विवाह 2017 में पलारी चौकी अंतर्गत ग्राम डूंडा सिवनी निवासी महेन्द्र पिता हजारीलाल ठाकुर के साथ हिन्दु रीतिरिवाज से हुआ था, विवाह के पश्चात से ही नवविवाहिता के ससुराल पक्ष द्वारा दहेज की मांग की जा रही थी।
दहेज में उन्होंने चार पहिया वाहन तथा पांच लाख नगद रूप्यों की मांग की थी, दहेज न मिलने के एवज में ससुराल पक्ष द्वारा महिला को शारिरिक एवं मानसिक प्रताड़ना दी जाने लगी।

मृतक महिला के भाई अंकित ठाकुर ने बताया कि वे मंडला जिले के नैनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम धतूरा के निवासी हैं, उनकी बहिन सोनम का विवाह बीते 4 वर्ष पूर्व पलारी क्षेत्र के ग्राम डूंडा सिवनी निवासी महेंद्र ठाकुर के साथ हुआ था, विवाह के पश्चात से ही ससुराल में पति सास एवं ननंद के द्वारा सोनम को परेशान किया जा रहा था, दहेज में चार पहिया वाहन की मांग को लेकर मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा था, साथ ही बीते 2 वर्षों से सोनम को मायके भी नहीं भेजा गया था, इतना ही नहीं 3 माह पूर्व सोनम के पिता की मृत्यु होने पर भी ससुराल पक्ष द्वारा सोनम को पिता की अंत्येष्टि में भी शामिल होने के लिए नहीं भेजा गया।

वहीं मृतक महिला के परिजनों द्वारा जिला पुलिस अधीक्षक को शिकायत दी गई है, जिसमें उन्होने हत्या की आशंका जताई है, फिलहाल पुलिस इस मामले को लेकर जांच में जुटी है। वहीं केवलारी एसडीओपी से इस सम्पूर्ण मामले को लेकर चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि उक्त मामले में निष्पक्ष रुप से जांच कर दोषियों के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जावेगी।
अब देखना यह है कि जांच के बाद पुलिस आरोपियों के विरूद्ध क्या कार्यवाही करती है?