खाद्य तेल विक्रय करने वाले प्रतिष्ठान के विरूद्ध कार्रवाई दस लाख रूपये मूल्य का तेल किया गया जप्त

Scn news india

मनोहर

इंदौर जिले में उपभोक्ताओं को गुणवत्तापूर्ण शुद्ध खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने के लिये लगातार प्रयास किये जा रहे है। शहर में मिलावट करने वालों के विरूद्ध भी कलेक्टर श्री मनीष सिंह के निर्देशन में लगातार कार्रवाई की जा रही है। इसी सिलसिले में इंदौर के एक संस्थान के विरूद्ध कार्रवाई करते हुये विभिन्न खाद्य तेल के 11 नमूने लिये गये और लगभग 10 लाख रूपये कीमत का तेल भी जप्त किया गया।

अपर कलेक्टर श्री अभय बेडेकर  के मार्गदर्शन में खाद्य औषधि प्रशासन टीम द्वारा महेंद्र ब्रदर्स पालदा इंदौर का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। मौके पर मौजूद महेश गुलवानी से विभिन्न खाद्य पदार्थों के कुल 11 नमूने जांच हेतु लिए गए। जिसमें स्वाद गोल्ड रिफाइंड सोयाबीन ऑयल 500मिली लीटर, एमपी नंबर वन रिफाइंड सोयाबीन आयल 400 मिली लीटर, स्वाद गोल्ड रिफाइंड सोयाबीन आयल 5 लीटर, स्वाद गोल्ड रिफाइंड सोयाबीन ऑयल 15 लीटर, एमपी नंबर 1 रिफाइंड सनफ्लावर ऑयल 15 लीटर, सागर गोल्ड रिफाइंड पामोलिन ऑयल 50 मिली लीटर, हेल्थी किंग रिफाइंड सोयाबीन आयल, सूर्या कोकोनट ऑयल, हेलो रिफाइंड सनफ्लावर ऑयल, सिद्ध बाबा रिफाइंड सोयाबीन ऑयल, हेलो रिफाइंड सोयाबीन ऑयल 15 लीटर के नमूने खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के अंतर्गत लिये गये।

साथ ही सूर्या कोकोनट ऑयल 2205 किलो ग्राम, हेलो रिफाइंड सनफ्लावर ऑयल (1 लीटर पाउच) 2000 लीटर,  हेलो रिफाइंड सोयाबीन ऑयल (15 लीटर टीन) 2175 लीटर जिसकी कुल कीमत 9 लाख 90 हजार 925 रूपये है को खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के अंतर्गत जप्त कर संबंधित विक्रेता की अभिरक्षा में सौंपा गया। सूर्या सूर्या कोकोनट ऑयल, हेलो रिफाइंड सनफ्लावर ऑयल, सिद्ध बाबा रिफाइंड सोयाबीन ऑयल, हेलो रिफाइंड सोयाबीन ऑयल 15 किलो नेपाल से निर्मित किया जाना पाया गया है। भारत में इंपोर्टर द्वारा इंपोर्ट किया गया है। इंपोर्टर का लाइसेंस नंबर 12 डिजिट में लिखा गया है जबकि FSSAI नई दिल्ली द्वारा लाइसेंस 14 डिजिट में जारी किया जाता है। प्रकरण में विस्तृत रूप से विवेचना कर दोषी के विरूद्ध आगामी कार्रवाई की जा रही है।