नाबालिग का प्रसव करा  नवजात की खरीद-फरोख्त का सनसनी खेज मामला,पांच पर एफआईआर,दो हिरासत में

Scn news india

मनोहर

खंडवा -खंडवा के एक निजी अस्पताल  में नाबालिग का प्रसव करा  ढाई लाख रुपए में नवजात की खरीद-फरोख्त का सनसनी खेज मामला  है। जहां नाबालिग का प्रसव और नवजात की खरीद-फरोख्त का भंडाफोड़ हुआ है। बताया जा रहा कि अस्पताल के डॉक्टरों ने ही नवजात को ढाई लाख रुपए में सौदा कर दिया। मामले में पुलिस ने पांच पर एफआईआर दर्ज कर , डॉक्टर सहित अस्पताल स्टाप दो हिरासत में  लिया है।

क्या है मामला 

बता दे कि खरगोन निवासी 16 वर्षीय किशोरी ने प्रसव के दौरान बालक को 6-7 दिन पहले जन्म दिया। परिवार वाले किशोरी को घर ले गए, लेकिन बच्चे को अस्पताल में ही छोड़ दिया। इसके बाद  अस्पताल के कर्मचारी ने रामनगर निवासी बच्चा कंचन बाई  500 रुपए देकर दूध पिलाने और 5 दिन रखने के लिए दे दिया , किन्तु अचानक  कर्मचारी मोहसिन खान और डॉक्टर सौरभ सोनी के कर्मचारी कमलेश पटेल ने कंचन बाई से बच्चा माँगा। तो कंचनबाई को मामला समझते देर नहीं लगी उसने तुरंत पुलिस को सारी घटना की जानकारी दी और पुलिस की पूछताछ में  कर्मचारी मोहसिन खान और डॉक्टर सौरभ सोनी के कर्मचारी कमलेश पटेल ने माना की बच्चे का ढाई लाख में सौदा हुआ है।

मामले में पुलिस ने शहर के पड़ावा क्षेत्र के कथित डॉ. सौरभ सोनी, शहर की प्रतिष्ठित डॉक्टर स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रेणु सोनी सहित पांच आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

जिसमे डॉक्टर रेणु सोनी के अस्पताल पर काम करने वाले कर्मचारी मोहसिन खान निवासी हरीगंज, जिला अस्पताल की एक स्वास्थ्य कर्मी संजना पटेल, डॉ. सौरभ सोनी का कर्मचारी कमलेश पटेल निवासी छनेरा नया हरसूद के खिलाफ पुलिस ने शनिवार को जुवेनाइल जस्टिस एक्ट (जेजे एक्ट) व पाक्सो एक्ट में प्रकरण दर्ज किया है।फिलहाल पुलिस ने डॉक्टर सौरभ सोनी, मोहसीन को हिरासत में लिया है।