महापौर ने कोतवाली थाने में की लिखित शिकायत, जासूस रमन पर हो एफ.आई.आर

Scn news india

हेमंत वर्मा

छत्तीसगढ़ पहुची थी इजराइल से टीम पेगासस स्पाई वेयर पर निजात के उल्लंघन का आरोप

राजनांदगाँव:- महापौर हेमा सुदेश देशमुख के नेतृत्व में आज निगम एम.आई.सी सदस्यो सहित पार्षददल एवं कांग्रेस जनो ने कोतवाली थाना पहुच पेगासस स्पाई वेयर द्वारा निजात के उल्लंघन के संदर्भ में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के विरुद्ध लिखित शिकायत दर्ज कराते हुए एफ.आई.आर करने की माँग की है।
माहापौर हेमा सुदेश देशमुख ने बताया कि छत्तीसगढ़ में पेगासस कंपनी के लोग 2017 में आए थे,तब भाजपा की सरकार में रमन सिंह मुख्यमंत्री थे और पुलिस के साथ उनकी चर्चा हुई थी,इसकी जानकारी एक अखबार के माध्यम से सामने आई इस आधार पर प्रदेश सरकार के द्वारा नवंबर 2019 में एक समिति गठित की गई थी समिति ने इस मामले में जांच की समिति ने जांच में पाया कि पेगासस के साथ हुई बैठक की जानकारी से जुड़े दस्तावेज जला दिए गए हैं,जो कि गम्भीर विषय है इस ओर माहापौर ने रमन सिंह से सवाल करते हुए कहा है कि पेगासस कंपनी के साथ हुई बैठक की जानकारी को लेकर डॉक्टर रमन सिंह बताएं कि कंपनी के लोगों के साथ उनकी बैठक हुई थी या नहीं ? भाजपा ने कुछ गलत नहीं किया तो उसका विवरण उन्हें सार्वजनिक करना चाहिए साथ ही पत्रकारों,समाजिक कार्यकर्ताओ राजनेताओ एवं प्रसासनिक अधिकारियों के फोन की टेपिंग की गई जो निजात के उलांघन है इस संदर्भ में एफ.आई.आर होनी चाहिए।

 

माहापौर ने प्रधानमंत्री से भी मांगा इस्तीफा

आगे कहा कि केंद्र में भाजपा की सरकार है और मोदी शाह की इस सरकार ने लोकतंत्र की हत्या करने का प्रयास हर बार करना चाहा है आज जो देश की हालत है वो केवल मोदी शाह की देन है प्रधान मंत्री को अब पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

पेगासस स्पाई वेयर साफ्टवेयर का विवरण

यह एक सर्विलांस सॉफ्टवेयर है, जिसे इजराइल की सुरक्षा कंपनी एनएसओ ग्रुप ने बनाया है. इसके जरिए किसी व्यक्ति का फोन हैक करके उसकी गतिविधियों पर नजर रखी जा सकती है. इसे टारगेट के लिए फोन में इंस्टॉल किया जाता है और फिर फोन का रिमोट कंट्रोल ले लिया जाता है. यह रिमोट एक्सेस ट्रोजन की तरह ही काम करता है. ये पावरफुल स्पाइवेयर सॉफ्टवेयर है, जो मोबाइल और कंप्यूटर से गोपनीय एवं व्यक्तिगत जानकारियां चुरा लेता है और उसे हैकर्स तक पहुंचाता है. इसे स्पाइवेयर कहा जाता है यानी यह सॉफ्टवेयर आपके फोन के जरिए आपकी जासूसी करता है.इजरायली कंपनी एनएसओ ग्रुप का दावा है कि वह इसे दुनिया भर की सरकारों को ही मुहैया कराती है. इससे आईओएस या एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम चलाने वाले फोन को हैक किया जा सकता है. फिर यह फोन का डेटा, ई-मेल, कैमरा, कॉल रिकॉर्ड और फोटो समेत हर एक्टिविटी को ट्रेस करता है।

पहले भी उठाये है कई देशों और कंपनियों ने सवाल

पेगासस को इसराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी एनएसओ ने तैयार किया है. बांग्लादेश समेत कई देशों ने पेगासस स्पाईवेयर ख़रीदा है. इसे लेकर पहले भी विवाद हुए हैं. मेक्सिको से लेकर सऊदी अरब की सरकार तक पर इसके इस्तेमाल को लेकर सवाल उठाए जा चुके हैं. व्हाट्सऐप के स्वामित्व वाली कंपनी फ़ेसबुक समेत कई दूसरी कंपनियों ने इस पर मुकदमे किए हैं।
शिकायत दर्ज करने के दौरान नगर निगम चेयरमैन विनय झा,सतीश मसीह,मधुकर बंजारी,गणेश पवार,राज तिवारी,राजेश चम्पू गुप्ता,भागचंद साहू,आशिफ अली,आमीन हुड्डा,सिद्धार्थ डोंगरे पूर्णिमा नागदेवे,अरविंद वर्मा,शरद पटेल,ऋषि शास्त्री,इसाख खान,युवा कांग्रेसी सौरभ तिवारी,मानव देशमुख,प्रतीक अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

उपरोक्त जानकारी पार्षद दल प्रवक्ता ऋषि शास्त्री ने दी।