अपनी मांगों को लेकर ग्राम पंचायत व जनपद पंचायत कर्मचारी में हड़ताल पर

Scn news india

शारदा श्रीवास 

मंडला मध्य प्रदेश पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के संगठनों के संयुक्त मोर्चे के आह्वान के बाद आज 22 जुलाई 2021 को मध्य प्रदेश की सभी 23000 ग्राम पंचायतों और 312 जनपद पंचायतों के अधिकारी एवं कर्मचारी हड़ताल पर है पंचायत व ग्रामीण विकास विभाग संयुक्त मोर्चा ने 22 जुलाई दिन गुरुवार को कलम बंद, कार्यालय बंद का आह्वान किया है। जिसके तहत 22 जुलाई से 17 संगठन के संयुक्त मोर्चे पंचायत व ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा हड़ताल पर जा चुके हैं । पंचायत व ग्रामीण विकास विभाग संयुक्त मोर्चा संगठन ने ज्ञापन में उल्लेख किया है कि 52 हजार गांव और 312 जनपद व जिलों में एवं राज्य संवर्ग के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के 17 घटक संगठनों के अधिकारियों कर्मचारियों की महत्वपूर्ण मांगों का निराकरण जल्द नहीं किया गया तो मध्य प्रदेश पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग संयुक्त मोर्चा बड़ा आंदोलन करेगा। जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी शासन की होगी।
वही कर्मचारियों का कहना है हम लोगो से अधिक कार्य कराया जाता हैं सारे कार्य हम लोगो से कराया जाता हैं मानसिक रुप से प्रताड़ित किया जाता हैं संविदा कर्मचारियों को नियमित नहीं किया जा रहा है यदि हम लोगो की मांगें पूरी नही की जाती हैं तो हमारी हड़ताल बन्द नही होगी
हड़ताल में शामिल जनपद सीईओ, ग्राम पंचायत सचिव, रोजगार सहायक, मनरेगा डिप्लोमा इंजीनियर एसोसिएशन, पंचायत एवं ग्रामीण विकास अभियंता संघ, मनरेगा अधिकारी कर्मचारी संघ, जिला जनपद पंचायत कर्मचारी संगठन, विकासखंड समन्वयक संघ, प्रधानमंत्री आवास योजना स्वच्छता मिशन अधिकारी कर्मचारी संघ, राज्य आजीविका मिशन कर्मचारी संघ, पंचायत समन्वयक अधिकारी कर्मचारी संगठन सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी संगठनों का प्रदर्शन में समर्थन रहा। अपनी विभिन्न मांगों को लेकर विभागीय कर्मी एकजुट रहे।