एक साल से पीएम आवास की दूसरी किस्त नहीं मिली, हितग्राहियों को हो रही परेशानी

Scn news india

 दिलीप पाल 

  • एक साल से पीएम आवास की दूसरी किस्त नहीं मिली, हितग्राहियों को हो रही परेशानी
  • 81 हितग्राहियों को एक साल से नही मिली प्रधानमंत्री आवास की तीसरी क़िस्त
  • 113 हितग्राहियों के नवीन प्रकरण स्वकृत पर कब मिलेगी क़िस्त

आमला. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नगर परिषद आमला ने इस वर्ष में नगर के लगभग 81 पात्र परिवारों को प्रधानमंत्री आवास निर्माण के लिए ढाई लाख रुपए की राशि स्वीकृत की थी। सभी पात्र हितग्राहियों ने योजना की पहली किस्त एक-एक लाख रुपए की राशि लेकर अपने आवासों का निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया गया था। ज्ञात हो की राशि सभी हितग्राहियों को उनके अलग-अलग बैंक शाखाओं के खातों में डाली गई थी जो यह प्रथम किस्त मिलते ही सभी हितग्राहियों द्वारा अपने पुराने कच्चे घरों को तोड़कर नये बनाए जाने का कार्य आरंभ कर दिया गया था, लेकिन अब जब पहली ओर दूसरी किस्त के एक लाख रुपए की राशि छत की ऊंचाई आने तक खर्च हो गई, हितग्राहियों का आवासों का निर्माण दूसरी किस्त नहीं मिलने से रुक गया है। ज्ञात हो हितग्राहियों को तीसरी किस्त के रूप में पचास हजार रुपए की राशि मिलना है जिससे हितग्राही अपने आवास पर छत डाल सकें व अन्य कार्य कर सकेंगे। इधर समय पर किस्त नहीं मिलने के कारण भवन निर्माण सामग्री कहीं अस्त व्यस्त पड़ी हुई है ओर बाकी बची वाली सामग्री चोरी हो गई है इस वजह से भी प्रधानमंत्री आवास के हितग्राही बहुत परेसान हो रहे है।निर्माण सामग्री कही सड़क पर पड़ा हुआ है तो किसी का ओर कहीं खुले आसमान तले पड़ा हुआ है। बूंदा-बांदी तो कभी तेज धूप व गर्मी से हितग्राही परेशान हो रहे हैं। जहां एक साल का समय से भी अधिक समय बीत गया, लेकिन तीसरी किस्त नहीं मिली।
गृहस्थी की सामग्री खले आसमान के नीचे रखा है
शांति समिति के अध्यक्ष विजय अतुलकर ने हितग्राहियों की परेशानियो को देखते हुए जिला कलेक्टर लिखा है पत्र में श्री अतुलकर ने सभी हितग्राहियों की परेशानियों को देखते हुए कलेक्टर को लिखे पत्र में बताया कि बारिश का समय आ गया। इन परिवारों के बच्चे एवं महिलाएं अधूरे मकानों में खुली छत के नीचे निवास करने को मजबूर हैं। यदि उनके मकानों की छत नहीं डली तो तेज बारिश के दौरान उनकी गृहस्थी का सामान जो खुले आसमान के नीचे रखा हुआ है वह खराब हो जाएगा। इन सभी समस्याओं से अवगत करा चुके है । एक ओर हितग्राही आए दिन आवासों की दूसरी एव तीसरी किस्त की मांग को लेकर नगर पालिका कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। परन्तु उन्हें कोई संतोषजनक जवाब भी किस्त को लेकर नहीं मिलने से वे अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं।
जनप्रतिनिधियों ने भी की किस्त देने की मांग
जनप्रतिनिधीयों ने भी उठाई समस्या पर कोई हल नहीं निकला। इधर क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों द्वारा भी पीड़ित हितग्राहियों को आवास की दूसरी किस्त दिलाने को लेकर कलेक्टर से बार-बार मांग कर रहे है परंतु अब तक दूसरी एव तीसरी किस्त हितग्राहियोंबको नहीं मिली रही है । पूर्व नपाध्यक्ष मनोज मालवे ने बताया कि 1 साल पहले प्रशासन से पीड़ित परिवारों को शीघ्र दूसरी एव तीसरी किस्त की मांग की गई थी लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी प्रधानमंत्री आवास के हितग्राहियों को राशि नही मिली है जिसके कारण हितग्राहियों को खुले में रहना पड़ रहा है आवास निर्माण नही होने से हितग्राहियों को परेशानियो का सामना करना पड़ रहा है ।
किस्त नहीं मिली तो हितग्राही काफी परेशान हो जाएंगे
वार्ड 18 , के हितग्राही विजय उबनारे ने बताया बारिश को देखते हुए निर्माण कार्य साहूकारों से ब्याज पर कर्जा लेकर कराना पड़ रहा है। जिससे उनको आर्थिक नुकसान हो रहा हैं। हितग्राहियों ने बताया हमें जो पहली किस्त मिली थी। उसमें हमने आवास का जितना काम हुआ उतना कर लिया, अब आगे और निर्माण करना है। इसलिए दूसरी किस्त की राह देख रहे हैं। समय रहते प्रधानमंत्री आवास योजना की दूसरी किस्त नहीं मिली तो ये काफी परेशान हो जाएंगे। ज्ञात हो नपा आमला से लंबित लगभग 113 हितग्राहियों के प्रकरण तैयार कर भेजे जा चुके हैं, अभी तक स्वीकृत नहीं हुए हैं उन्हें भी शीघ्र स्वीकृत कराकर सभी हितग्राहियों ने राशि देने की मांग भी की हैं। हितग्राहियों द्वारा भी इसी मांग को लेकर एक माह पहले उठाया गया था। इसके बाद भी हितग्राहियों को आवासों के निर्माण के लिए दूसरी किस्त नहीं मिल रही है । वही 81 हितग्राहियों को तीसरी क़िस्त मिलने का इंतजार बीते एक साल से है लेकिन एक साल से तीसरी क़िस्त हितग्राहियों को नही दी जा रही है जिसके कारण प्रधानमंत्री आवास के हितग्राहियों को खासी परेशानियो का सामना करना पड़ रहा है।

इनका कहना है।

प्रधानमंत्री आवास के 81 हितग्राहियों को तीसरी क़िस्त बाकी है काफी समय हो गया है कुछ कुछ हितग्राहियों के आवास का निर्माण नही हुआ है इस लिए ज्युटेक नही हुआ है जैसे ही 90% प्रतिशत कार्य नही होगा जब तक तीसरी क़िस्त मिलना संभव नही है।

रमेश कुमार देशमुख प्रभारी प्रधानमंत्री आवास योजना नपा आमला