यूरिया की कमी को लेकर भाजपा सारनी शहर और ग्रामीण मंडल ने दिया किसान खेत धरना

Scn news india

भारती जनता पार्टी मंडल सारनी एंव ग्रमीण मंडल एवं शहरी मंडल सारनी ने संयुक्त रूप से सहकारी केन्द्र के समीप घरना दीया बड़ी संख्या में किसान एवं भाजपा के कार्यकर्ता उपस्थित थे।धरने प्रदर्शन का कार्यक्रम सुबह 11:00 बजे से प्रारंभ हुआ जिसमें भाग लेने के लिए बैतूल नपा उपाध्यक्ष आनंद प्रजापति एंव छूट्टन पाल जी उपस्थित थे।

धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए आनंद प्रजापति ने कहॉ की मध्य प्रदेश के कमलनाथ सरकार तबादला नाथ सरकार में परिवर्तित हो चुकी है। युद्ध स्तर पर तबादले का उद्योग जारी है किसानों के हितों को अनदेखा कर मध्य प्रदेश की सरकार सिर्फ तबादला उद्योग में व्यस्त है इस सरकार को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए ग्रामीण मंडल अध्यक्ष मोहन मौर्य जी ने कहा कि प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व में जो सरकार संचालित हो रही है वह गूंगी बहरी अंधी और लगंडी संवेदनहीन सरकार है। इस संवेदनहीन सरकार ने मध्य प्रदेश के किसानों प्राकृतिक आपदाओं से संरक्षण नही कर पा रही है।

धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए भाजपा मंडल अध्यक्ष सुधा चन्द्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश के हर जिलो में यूरीया की कालाबाजारी हो रही है जिसका संरक्षण कमलनाथ सरकार के मन्त्री और नेता कर रहे है। मध्य प्रदेश का किसान प्राकृतिक आपदाओं से परेशान है मध्य प्रदेश की किसान विरोधी सरकार ने आपदा प्रबंधन के लिए किसानों को एक रूपया नहीं दिया।जबकि मध्यप्रदेश में आपदा प्रबंधन के लिए 900 करोड़ रुपए का बजट आरक्षित था । केंद्र में बैठी नरेंद्र मोदी की संवेदनशील सरकार ने किसानों के आपदा प्रबंधन के लिए ₹1000 का बजट मध्य प्रदेश की सरकार के लिए रिलीज किया किंतु सत्ता के मद में मदमस्त कमलनाथ सरकार ने किसानों के हितों की अनदेखी की किसानों को अब दोहरी मार झेल रहा है।धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए जिला मंत्री रंजीत सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में यूरिया की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध थी 27000 टन यूरिया मध्यप्रदेश में स्टॉक था 15 लाख टन यूरिया मध्य प्रदेश में पहुंचा चुका है।

केंद्र सरकार में यूरिया का कोटा 27 हजार मैट्रिक टन तक बढ़ा दिया है उसके बाद भी क्षेत्र का किसान यूरिया के लिए परेशान है। खुलेआम यूरिया की कालाबाजारी हो रही है 250 रू मे मिलने वाली यूरिया की बोरी 450 सौ से ₹500 तक मिल रही है। धरना प्रदर्शन को मंडल महामंत्री जगनाथ डैहरीया, किशोर बरदे, प्रकाश शिवहरे, मानू मसकोले, सुखमन सलाम ने संबोधित किया सभी वक्ताओं ने मध्य प्रदेश की सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार ने किसानों के साथ झूठे वादे और छल कपट कर सत्ता में आए उन्होंने सत्ता में आने के लिए मध्य प्रदेश के किसानों का ₹200000 तक के कर्ज माफ की घोषणा की। आज तक किसी भी किसान का ₹200000 तक का कर्जा माफ नहीं हुआ। लाल पीले हरे नीले फार्म भरवा कर मध्य प्रदेश के किसानों को गुमराह किया और जब कर्जा माफ करने में सफल नहीं हो पाए तो लोकसभा चुनाव की आचार संहिता का हवाला देकर मध्य प्रदेश के किसानों को फिर गुमराह किया। आज तक किसी भी किसान का ₹200000 तक का कर्जा माफ नहीं हुआ। जो किसान कर्जा माफ की आस लगाए हुए बैठा था वह सभी किसानों को बैंकों द्वारा डिफाल्टर घोषित कर दिया गया।डिफाल्टर किसानों को सोसाइटी से खाद बीज नहीं मिल पाया और अब यूरिया की मार से किसान परेशान है ।ऐसे संवेदनहीन उद्योगपति की सरकार को दोबारा जड़ से उखाड़ फेंकने का समय आ चुका है यह सरकार वेंटिलेटर पर चल रही है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से पी जे शर्मा, जी पी सिह,श्याम मदान,पन्जाबराव बारस्कर, सुनंदा पाटिल, जगननाथ डैहरीया, राजू बतरा, राजु आहूजा, राजकूमार नागले, नन्हे सिंह, रेवा शंकर मगर्दे, योगेश बर्डे, प्रकाश डैहरीया, रमेश हारोडे, पप्पू यादव, अजय साकरें, गोलू राजपूत,प्रवीण सुर्यवंशी, बैबी हैदर,राकेश भादे,प्रवीण सोनी, सुनील पाटील, बाबू सिंह, अन्वर हूसैन, मुन्ना पाटील, सेख सकील, संदीप झपाटे, नरेन्द्र उघडे,मुकेश यादव,नागेन्द्र निगम,राकेश सोनी, नदीम हैदर, बंटी अग्रवाल उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन विनय मदने ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All rights reserved by "scn news india" copyright' -2007 -2019 - (Registerd-MP08D0011464/63122/2019/WEB)  Toll free No -07097298142
error: Content is protected !!