स्वास्थ्य विभाग ने मांगी प्रशासन से सुरक्षा

Scn news india

दिलीप पाल 

  • स्वास्थ्य विभाग ने मांगी प्रशासन से सुरक्षा
  • प्रतिदिन 5 हजार डोज की आवश्यकता मिल रही हजार डोज लोगों ने बीएमओ की कार्यप्रणाली पर भी उठाए सवाल
  • इन दिनों प्रतिदिन लगभग 5 हजार डोज मिल रही 1 हजार डोज

आमला. सरकार और संगठनों की लगातार और प्रचार के बाद कोरोना वैक्सीन के प्रति दूरदराज के इलाकों में भी अब लोगों में वैक्सीन के प्रति जस्ता दिखाई दे रही है और अब बड़ी संख्या में लोग वैक्सीन लगाने के लिए वैक्सीन केंद्रों की ओर रुख करने लगे हैं। किंतु देख है कि जैसे जैसे लोग वैक्सीन के बारे में फैली भातियां दूर कर वैक्सीन की ओर रुख कर रहे हैं, वैसीन को लेकर सिस्टम पूरी तरह चरमरा गया है, स्थानीय स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों में कमी के चलते वैक्सन केंद्रों पर विवाद और फसाद के लात भी बनने लगे है। दरअसल स्थानीय स्वास्थ्य विभाग द्वारा पूरे ब्लॉक में अलग-अलग 24 कैदीन केंद्र बनाए गए है किंतु बोते कुछ दिनों से देखा जा रहा है कि स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों में कमी और वैक्सीन की कमी से इलाके में मानो जैसे वैक्सीन केंद्रों पर अफरा-तफरी का माल देखा जा रहा है,

तो वहीं इलाके के कई गांव में फसाद जैसी स्थिति भी निर्मित हो रही है। वैक्सीन के लिए केंद्रों पर उमड़ रही भीड़ और अनियंत्रित हालात के बाद स्वास्थ्य विभाग ने पुलिस से भी सुरक्षा मांगी है। वैक्सीन की कमी और उस पर बीएमओ पर भी लापरवाही का आरोपः वैक्सीन केंद्रों पर लोगों की उमड़ी भीड़ और उस अनुपात में वैक्सीन की कमी से इलाके के सभी 24 वैक्सीन केंद्रों पर लात बिगड़ने लगे हैं, वैक्सीन की कमी के चलते तो फिलहाल 15 से ज्यादा वैक्सीन केंद्रों पर ताला लगा दिया गया है। जैसा कि विभाग द्वारा जानकारी दी गई है कि इन दिनों प्रतिदिन लगभग 5 हजार डोज वैक्सीन की आवश्यकता है किंतु इस अनुपात में आमला स्वास्थ्य विभाग को लगभग हजार ही मिल रहे हैं, ऐसे में इस तरह के हालात बनना स्वभाविक है। इधर वैक्सीन केंद्रों पर मथ रही अफरा-तफरी और बिगड़ते हालातों के लिए लोगों ने चिकित्सा अधिकारी के गैर जिम्मेदार रवैये को भी दोषी माना है, इस मौके पर सोमवार को ब्लॉक के कनौजिया, आमला, मोरखा के अलावा अन्य वैक्सीन केंदों से भी विवाद की खबरें भी सामने आई है। इस मौके पर लोगों का कहना है कि वैक्सीन की कमी की बात तो समझ में आती है किंतु स्थानीय विभाग वैक्सीन और केंद्रों पर व्यवस्था बनाने में पूरी तरह नाकाम साबित हो रहा है, कनौजिया के रमेश बुखारे, ममता पवार, सुलोचना सिसोदिया, रिया, शेषराव सोनपुरे सहित अन्य लोगों ने इस दौरान ब्लक अधिकारी की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाए है लोगों का आरोप है कि ब्लॉक का अधिकारीको लापरवाही से भी व्यवस्था और ज्यादा गड़बड़ रही है।

इनका कहना है

बीते कुछ दिनों से स्वास्थ्य विभाग को पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की सप्लाई नहीं हो रही है। हमें प्रतिदिन लगभग 5 हजार डोज वैक्सीन की आवश्यकता है किंतु लगभग हजार डोज हमें दिए जा रहे है जिससे व्यवस्था गड़बड़ा गई है बीएमओ को कई केंद्रों पर विवाद की खबरें आने के बाद पुलिस से भी सुरक्षा मांगी गई है। इसके अलावा सरकार के आदेश के बाद स्तनपान कराने वाली और गर्भवती माताओं को भी वैक्सीन दिए जा रहे हैं।

सुभाष गुर्जरकर बीसीएम सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र आमला